Wednesday , 16 June 2021

दुकानदार को घी के साथ पनीर फ्री देना पड़ा महंगा, खाद्य विभाग ने मारा छापा

मेरठ (Meerut) . उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के मेरठ (Meerut) में एक दुकानदार को एक किलो घी के साथ एक किलो पनीर फ्री देना महंगा पड़ गया है. महंगाई के इस दौर में एक दुकानदार ने उद्घाटन् के मौके पर एक किलो घी के साथ एक किलो घी या एक किलो पनीर फ्री देने की सूचना पाकर खाद्य विभाग की टीम ने डेयरी पर छापेमारी की.

दरअसल, महंगाई के दौरान में घी लेने के ‎लिए दुकान में भीड़ लग रही थी. दुकान में एकाएक भीड़ लगने की ख़बर पुलिस (Police) को भी मिली. अशंका होने पर पुलिस (Police) ने खाद्य विभाग को सूचित कर दिया. खाद्य विभाग की टीम भी बिना किसी देरी के इस दुकान पर धमक पड़ी. इस दौरान खाद्य विभाग की टीम को घी की गुणवत्ता पर संदेह हुआ. मौके पर ही टीम ने घी के नमूने एकत्रित किए. खाद्य विभाग की डीओ अर्चना धीरान का कहना है कि घी की गुणवत्ता को लेकर संदेह होने पर नमूने लिए गए हैं. रिपोर्ट आने के बाद आगे की कार्रवाई की जाएगी.

जानकारी के मुता‎बिक, मेरठ (Meerut) के मेडिकल थानाक्षेत्र स्थित शेरगढ़ी में दुकानदार को 1 किलो घी के साथ 1 किलो घी फ्री का पैम्फलेट छपवाना और उसे मोहल्ले में बांटे जा रहे थे. एक किलो घी के साथ एक किलो घी फ्री या एक किलो पनीर फ्री देने का भी वादा इस पैम्फलेट में किया गया था. यही नहीं ऐसे ही कई फ्री ऑफर्स पैम्फलेट में लिखे गए थे. मसलन एक किलो पनीर के साथ 500 ग्राम मटर फ्री. एक किलो खोया के साथ 250 ग्राम खोया फ्री. एक किलो चाप के साथ 500 ग्राम चाप फ्री. एक किलो घी के साथ पांच किलो चीनी फ्री. पैम्फलेट में ये भी लिखा था कि यह स्कीम पांच दिन तक मान्य है. दुकान का ये पैम्फलेट देखते ही देखते इलाके में चर्चा का विषय बन गई. ऐसे में खाद्य विभाग की टीम द्वारा घी का सैंपल लेते ही देखते ही देखते दुकान के उद्घाटन की ख़ुशियां दुकानदार के लिए मायूसी में बदल गईं.

Please share this news