Sunday , 11 April 2021

देश के कई राज्यों में हाड़ मांस कंपा देने वाली ठंड, राजस्थान में शिमला जैसा नजारा

नई दिल्ली (New Delhi) . 2020 विदा होने वाला है, लेकिन विदाई से पहले देश के कई हिस्सों पर सफेद आफत से त्राहिमाम मचा मचा रखी है. पहाड़ी इलाकों में जमकर बर्फबारी हो रही है. हिमाचल से लेकर उत्तराखंड और जम्मू-कश्मीर में बेहिसाब बर्फबारी हो रही है. यहां कई इलाकों में पारा माइनस में कई डिग्री तक नीचे चला गया है. पश्चिमी हिमालय से आने वाली ठंडी और शुष्क उत्तर-पश्चिमी हवाओं से शीतलहर की आशंका है. मौसम विभाग के मुताबिक, ये हवाएं उत्तर भारत के न्यूनतम तापमान में तीन से पांच डिग्री सेल्सियस तक की कमी लाएगी.

वहीं डलहौजी में पारा माइनस में चला गया है, यहां करीब 4 फीट बर्फबारी हुई है. बर्फबारी में टूरिस्टों की मौज हो गइ है, लेकिन संकट भी खड़ा हो गया है. टूरिस्टों की कारें जहां थीं, वहीं जम गई हैं, रास्तों पर भी बर्फ ही बर्फ बिछी है. पहाड़ों की रानी कहे जाने वाले शिमला (Shimla) में सबकुछ बर्फ में दबा, ढका नजर आ रहा है, शिमला (Shimla) में रास्तों पर इतनी बर्फ जम गई है कि जेसीबी से हटानी पड़ रही है. शिमला (Shimla) में सीजन की ये पहली बर्फबारी हुई है. लेकिन बर्फबारी की मार से शिमला (Shimla) का संपर्क देश और दुनिया से कट चुका है, जो जहां हैं, वहीं रह गया है. शिमला (Shimla) शहर के कई इलाकों में बिजली भी गुल है. हिमाचल प्रदेश (Himachal Pradesh)के सोलन में भी जबरदस्त बर्फबारी हो रही है. बता दें कि सोलन दिल्ली से महज 300 किलोमीटर दूर है और चंडीगढ़ (Chandigarh) से सिर्फ 65 किलोमीटर दूर है. हिमाचल के कुफरी में 30 सेंटीमीटर से ज्यादा बर्फबारी हुई है, डलहौजी में 22 सेंटीमीटर बर्फ गिरी है. जबकि कोठी में 18 सेंटीमीटर, खदराला में 14, निचार में 10, शिमला (Shimla) में 9,जुब्बलहट्टी में 4, केलांग में 3 सेंटीमीटर बर्फबारी रिकॉर्ड की गई है. जबकि मनाली में पारा माइनस 0.2 डिग्री रिकॉर्ड किया गया है. कश्मीर के श्रीनगर (Srinagar) में आसमान से बर्फ गिर रही है. सड़कों पर बर्फ की मोटी परत जम गई है. कश्मीर में 40 दिन का ‘चिलाई कलां’ का दौर चल रहा है, इस दौरान कश्मीर में कड़ाके की ठंड के साथ भयंकर बर्फबारी होती है. सर्दी का आलम ये रहता है कि पानी की लाइनें भी जम जाती हैं. ये चिलाई कलां 21 दिसंबर से शुरू हुआ है और 31 जनवरी तक चलेगा.

राजस्थान (Rajasthan)में जहां गर्मियों में पारा 50 डिग्री के पार पहुंच जाता है, वहां आजकल बर्फ जम रही है. खुले बर्तनों में रखा पानी जम जा रहा है. राजस्थान (Rajasthan)के माउंट आबू (Mount Abu) में तापमान लुढ़ककर -4 डिग्री पर आ गया है. खेतों में बर्फ की चादर सी बिछी हुई है. माउंट आबू (Mount Abu) में ओस जमकर बर्फ बन गई है. गर्मियों में देश का सबसे गर्म शहर बनने वाला फतेहपुर शेखावटी, आजकल बर्फिस्तान बना हुआ है. फतेहपुर शेखावटी में इस वक्त शिमला (Shimla) जैसा मौसम है. पेड़ों पर टपकती ओस की बूंदे बर्फ बन गई हैं. गमलों में बर्फ जम चुकी है. खेतों में रखा बर्तनों का पानी बर्फ में बदल चुका है. पूरा फतेहपुर शेखावटी इस वक्त भयंकर शीतलहर की चपेट में है. मध्य प्रदेश के मंदसौर जिले के मल्हारगढ़ में सुबह-सुबह खेतों में फसलों पर बर्फ ही बर्फ जमी हुई दिखाई दे रही है. मंदसौर में पाला पड़ रहा है. किसानों को डर है कि कहीं उनकी फसलें खराब ना हो जाएं. चना, गेहूं, मेथी, आलू और अफीम की खेती के लिए ये पाला बहुत ही नुकसान दायक है.

Please share this news