Saturday , 19 June 2021

शरीफ को लगा बड़ा झटका, कोर्ट ने खारिज की जमानत अर्जी

हाथरस . उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के हाथरस में दलित युवती के साथ दुष्कर्म और हत्या (Murder) की वारदात के बाद साम्प्रदायिक विद्वेष फैलाकर हिंसा की साजिश रचने के आरोपियों के सरगना पीएफआई/सीएफआई के राष्ट्रीय महासचिव रऊफ शरीफ की जमानत याचिका मथुरा (Mathura) की एक अदालत ने खारिज कर दी. गौरतलब है कि हाथरस जाते समय यमुना एक्सप्रेस-वे पर देशद्रोह एवं हिंसा की साजिश रचने के आरोप में गिरफ्तार किए गए चार सदस्यों से की गई पूछताछ के बाद आंध्र प्रदेश (Andra Pradesh)के एर्नाकुलम जेल से लाए गए आरोपी रऊफ शरीफ की जमानत याचिका सुनवाई के पश्चात अपर जिला एवं सत्र न्यायाधीश (judge) (प्रथम) अनिल कुमार पाण्डेय ने खारिज कर दी.

न्यायाधीश (judge) का कहना था कि इस अत्यंत गंभीर मामले में रऊफ शरीफ के खिलाफ ही सारी साजिश रचे जाने के प्रमाण सामने आए हैं. अदालत के अनुसार उसके खिलाफ विदेशी फंडिंग स्वीकार करने एवं उसका अपने अन्य सदस्यों में वितरण किए जाने के पुख्ता सुबूत जांच एजेंसी ने अदालत में पेश किए हैं ऐसे में उसे जमानत नहीं दी जा सकती.जिला शासकीय अधिवक्ता शिवराम सिंह तरकर ने बताया कि न्यायालय ने एसटीएफ के उपाधीक्षक एवं मामले के जांच अधिकारी विनोद कुमार सिरोही की उपस्थिति में ही बचाव पक्ष के वकील की भी पूरी दलीलें सुनीं. इससे पूर्व अदालत इस मामले के तीन अन्य आरोपियों अतीकुर्ररहमान, मसूद अहमद और मोहम्मद आलम की जमानत अर्जी पहले ही खारिज कर चुकी है.

Please share this news