Friday , 25 September 2020

SDRF द्वारा कोरोना के दौरान एवं अतिवृष्टि प्रभावित क्षेत्रों में उल्लेखनीय सेवाएं

जयपुर (jaipur), . राजस्थान (Rajasthan) पुलिस (Police) के राज्य आपदा प्रतिसाद बल (एसडीआरएफ) द्वारा कोविड महामारी (Epidemic) के दौरान एवं अतिवृष्टि प्रभावित क्षेत्रों में उल्लेखनीय सेवाएं प्रदान की जा रही है. एसडीआरएफ की श्रीमती अमृता दुहान ने बताया कि अतिरिक्त महानिदेषक श्री सुष्मित कमाण्डेन्ट विष्वास के मार्गदर्षन में एसडीआरएफ की टीम ने कोरोना की रोकथाम के लिए डोर-टू-डोर सर्वेक्षण से लेकर अन्य कानून व्यवस्था ड्यूटियों की भी जिम्मेदारी संम्भाली है.

श्रीमती दुहान ने बताया कि ए कम्पनी एसडीआरएफ ने जयपुर (jaipur) के रामगंज, माणकचैक, ब्रह्मपुरी, गलतागेट जयपुर (jaipur) में मेडिकल टीमों के साथ कोविड-19 (Covid-19) की डयूटी के दौरान डोर टू डोर सर्वे एवं कोरोना पाॅजिटिव व्यक्ति को लाने हेतु मेडिकल टीम की सुरक्षा हेतु ड्यूटी की एवं अन्य कानून व्यवस्था ड्यूटी की. बी कम्पनी एसडीआरएफ कोटा ने कोटा शहर के कैथूनीपोल, मकबरा, कुन्हाडी, रामपुरा कोतवाली के अन्र्तगत मेडिकल टीमों की सुरक्षा, राषन वितरण के साथ ही कानून व्यवस्था की ड्यूटी की.

डी कम्पनी एसडीआरएफ उदयपुर (Udaipur) ने कोरोना क्वारेनटाईन सेन्टर अरावली काॅलेज उमरडा, विष्वविद्यालय बडेवास, दर्षन डेन्टल काॅलेज लोयड़ा पर डयूटी की. इसके अतिरिक्त रेलवे (Railway)स्टेषन पर प्रवासी श्रमिकों के विभिन्न राज्यों में जाने के दौरान कानून व्यवस्था ड्यूटी की. ई कम्पनी एसडीआरएफ भीलवाडा शहर में चिकित्सा विभाग द्वारा संदिग्ध कोरोना (Corona virus) संक्रमित व्यक्तियों को रखने हेतु बनाये गये 13 आईसोलेषन केन्द्रों पर कार्य किया. टोंक में कोरोना हाॅटस्पोट बम्बोर गेट क्षेत्र में सेनेटाईजर करने के साथ ही आम नागरिकों तक राषन सामग्री पहुंचाने का कार्य किया.

एफ कम्पनी एसडीआरएफ ने जोधपुर शहर के पुलिस (Police) थाना नागौर गेट उदय मंदिर, सदर बाजार, कोतवाली, खण्डा फल्सा के हाॅट स्पोट एवं हाई रिस्क जोन के एरिया में नाकाबन्दी कार्य, लाॅकडाउन का पालन करवाना एवं आवष्यक सामग्री डोर-टू-डोर पहुंचाने का कार्य किया. एच कम्पनी एसडीआरएफ ने रामगंज, माणकचैक, ब्रह्मपुरी, गलतागेट जयपुर (jaipur) में ड्यूटी के दौरान डाॅक्टरों की कोरोना सर्वे टीमों के साथ कार्य किया. कोरोना पाॅजिटिव व्यक्ति को लाने हेतु मेडिकल टीम की सुरक्षा हेतु ड्यटी की.

कमान्डेन्ट श्रीमती अमृता दुहान ने बताया कि वर्तमान मानसून में राज्य आपदा प्रतिसाद बल की कम्पनियों द्वारा निरन्तर बचाव व राहत कार्य किये जा रहे है. अब तक किये गये 56 रैस्क्यू से 61 व्यक्तियों को बचाया गया एवं 45 शव को निकाले गये हंै. ए कम्पनी एसडीआरएफ जयपुर (jaipur) द्वारा कुल 5 रेस्क्यू में 30 व्यक्तियों को बचाव किया.

बी कम्पनी एसडीआरएफ कोटा द्वारा अब तक 13 रेस्क्यू आॅपरेषन कर 18 व्यक्तियों को बचाया जा चूका है. सी कम्पनी एसडीआरएफ भरतपुर द्वारा 3 रेस्क्यू किये गये है. डी कम्पनी एसडीआरएफ उदयपुर (Udaipur) द्वारा 6 रेस्क्यू किये जा चूके है. ई कम्पनी एसडीआरएफ अजमेर द्वारा 17 रेस्क्यू कर 8 व्यक्तियों का बचाव किया गया है. एफ कम्पनी एसडीआरएफ जोधपुर द्वारा 9 रेस्क्यू में 5 व्यक्तियों को बचाया गया. रैस्क्यू के दौरान 2 जवान पाली से एवं 1 जवान सिरोही में तैनात रैस्क्यू टीम से कोरोना पोजिटिव पाये गये. जी कम्पनी एसडीआरएफ बीकानेर द्वारा अब तक 7 रैस्क्यू किये जा चूके है. एच कम्पनी एसडीआरएफ जयपुर (jaipur) द्वारा भी 6 रैस्क्यू किये जा चूके हैं.