Friday , 14 May 2021

मेले के कार्यों में शिथिलता को लेकर नाराज संतों को प्रदर्शन

हरिद्वार (Haridwar) , 16 जनवरी. कुंभ मेले के कार्यों में शिथिलता को लेकर जूना अखाडे़ के संतों ने सीसीआर परिसर पहुंचकर कुंभ मेला प्रशासन से नाराजगी जताते हुए उसके खिलाफ प्रदर्शन किया. जूना अखाड़े के अंतरष्ट्रीय अध्यक्ष प्रेम गिरी महाराज के नेतृत्व में बड़ी संख्या में जूना अखाड़े के संत सीसीआर परिसर पर धरने पर बैठ गए. और मेला प्रशासन के खिलाफ जमकर नारेबाजी की. संतों की नाराजगी व प्रदर्शन की सूचना पर कुंभ मेला प्रशासन में हड़कम्प मच गया. मेला प्रशासन की ओर से संतों को मनाने के लिए कुंभ उप मेला अधिकारी अंशुल सिंह को भेजा गया. जिन्होंने मौके पर पहुंचकर नाराज संतों को मनाने का प्रयास किया. लेकिन संत कुंभ मेला प्रशासन के कार्यो के प्रति अपनी नाराजगी व्यक्त की.

अंतराष्ट्रीय अध्यक्ष प्रेम गिरी महाराज का कहना हैं कि कुंभ मेले के लिए बरेली (Bareilly) से जूना अखाड़े की पेशवाई हरिद्वार (Haridwar) के लिए रवाना हो गई है, इस पेशवाई में जूना अखाड़े के रमता पंच, महामंडलेश्वर और सैकड़ो संत शामिल है. जबकि कुंभ मेला प्रशासन की ओर से न तो छावनियां लगी है और न ही इन संतो के ठहरने और सुरक्षा के लिए कोई व्यवस्था मेला प्रशासन की ओर से की गई है. जिनकी 25 जनवरी को पेशवाई हरिद्वार (Haridwar) पहुंच जाएगी. कुंभ मेला प्रशासन की ओर से मेले को लेकर घोर लापरवाही बरती जा रही है. जिसको बर्दाश्त नहीं किया जाएगा. मेला प्रशासन की उदासीनता के चलते ही संतों को आज सीसीआर परिसर पर धरने के लिए मजबूर होना पड़ा. उप मेला अधिकारी अंशुल सिंह ने नाराज संतों को समझा बुझा कर शांत कराया और उनकी मांगों को समय से पूर्व पूरा कर लिये जाने का अश्वासन दिया. जिसके बाद संत शांत हुए और धरना समाप्त किया. कुंभ मेला उप मेला अधिकारी अंशुल सिंह ने बताया कि कुंभ मेले का कार्य तीव्र गति से करवाया जा रहा है. मेले में आने वाले संतो के ठहरने के साथ साथ सभी तरह की व्यवस्थाएं की जा रही है. पेशवाई को लेकर भी सभी कार्य समय से पूरे कर लिए जाएंगे. (फोटो-03)

Please share this news