Tuesday , 13 April 2021

आप के पूर्व विधायक मनोज कुमार को राहत, 7 दिन कैद की सजा खारिज

नई दिल्ली (New Delhi) . वर्ष 2014 में कथित तौर पर एक महिला से मारपीट के मामले में आम आदमी पार्टी के पूर्व विधायक मनोज कुमार को सुनाई गई सात दिन की कैद की सजा के आदेश को अदालत ने खारिज कर दिया है. कड़कड़डूमा स्थित विशेष न्यायाधीश (judge) गीतांजलि गीत की अदालत ने फैसले के खिलाफ पूर्व विधायक की अपील पर निर्णय लेते हुए एक मजिस्ट्रेटी अदालत के आदेश को 22 दिसंबर को रद्द कर दिया है. सत्र अदालत ने कहा कि मौजूदा अपील को स्वीकार किया जाता है और 13 अगस्त, 2019 के फैसले को रद्द किया है. इसमें अपीलकर्ता मनोज कुमार को आईपीसी की धारा 352 के तहत अपराध का दोषी करार दिया गया और सजा सुनाये जाने के 17 अगस्त, 2019 के आदेश को भी खारिज किया जाता है.

अदालत ने पूर्व विधायक को इस मामले में बरी कर दिया है. अभियोजन पक्ष के अनुसार महिला उस समय विधायक रहे मनोज कुमार के पास जल भराव से संबंधित समस्याओं के समाधान के लिए पहुंची थी. हालांकि कुमार ने महिला को उन्हें परेशान नहीं करने को कहा और उसे अनुचित तरीके से धक्का दे दिया.

मजिस्ट्रेटी अदालत ने तत्कालीन विधायक मनोज कुमार को सजा सुनाते हुए कहा था कि विधायक एक जनसेवक होता है और उसकी जिम्मेदारी है कि उसके पास अपनी समस्याएं लेकर आने वालों के साथ निष्पक्ष और अच्छा बर्ताव करे. लेकिन विधायक का यह व्यवहार एक अपराध है. इसके लिए वह सजा पाने का हकदार है. कोर्ट ने कहा कि इस मामले में दोषी ठहराए गए पूर्व विधायक की अपील के तथ्य संबंधित घटना को लेकर यह प्रमाणित कर रहे है कि विधायक पर लगे आरोप पुष्ट नहीं हो रहे हैं. ऐसे में अदालत तत्कालीन विधायक की अपील को स्वीकार करती है और उसे सुनाई गई 7 दिन की सजा को खारिज करने का निर्णय करती है.

Please share this news