Friday , 16 April 2021

प्रतिवर्ष करेंगे रानी कमलापति का स्मरण, मेला भी लगेगा

भोपाल (Bhopal) . मुख्यमंत्री (Chief Minister) शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि बलिदानियों का स्मरण जरूरी है. भोपाल (Bhopal) में रानी कमलापति की प्रतिमा की स्थापना उनके बलिदान के प्रति आमजन द्वारा अभिव्यक्त किया गया सम्मान है. देश की स्वतंत्रता के लिए जो शहीद हुए, उनके प्रति कृतज्ञता व्यक्त करना आवश्यक है. मध्य प्रदेश के गोंड राजाओं और रानियों का स्वतंत्रता संग्राम में महत्वपूर्ण योगदान रहा है. रघुनाथ शाह, शंकर शाह, रानी दुर्गावती आदि का बलिदान इतिहास में दर्ज है. मुख्यमंत्री (Chief Minister) चौहान ने कहा कि रानी कमलापति ने अपने 14 वर्षीय पुत्र नवल शाह को युद्ध भूमि में संग्राम के लिए भेजा जो शहीद हुए थे. इसके पश्चात स्वयं सम्मान और स्वाभिमान के खातिर रानी ने जौहर किया. भोपाल (Bhopal) की झील में उन्होंने जल समाधि ली. भारतीय संस्कृति में ऐसे बलिदान याद रखे जाते हैं. मुख्यमंत्री (Chief Minister) चौहान ने कहा कि भोपाल (Bhopal) में प्रतिवर्ष रानी कमलापति की स्मृति में कार्यक्रम होगा जिसमें प्रदेश के गोंडवाना अंचल के प्रतिनिधि भी शामिल होंगे. भोपाल (Bhopal) के संस्थापक राजा भोज की झील के पास प्रतिमा स्थापित की गई थी. इसी श्रंखला में रानी कमलापति की प्रतिमा की स्थापना नागरिकों के लिए गर्व का विषय है.

भोपाल (Bhopal) होगा सबसे स्वच्छ और सुंदर शहर

मुख्यमंत्री (Chief Minister) चौहान ने आज भोपाल (Bhopal) में आर्च ब्रिज के लोकार्पण के अवसर पर कहा कि भोपाल (Bhopal) की सुंदरता और स्वच्छता में वृद्धि के लिए निरंतर प्रयास होंगे. अगले 5 वर्ष की विकास और सौन्दर्यीकरण की योजना भी तैयार की गई है. इसे जल्दी ही आम जनता के समक्ष लाया जाएगा. भोपाल (Bhopal) के जलाशयों को बचाया जाएगा. उन्हें हम मल का भंडार नहीं बनने देंगे. भोपाल (Bhopal) में इसी उद्देश्य से सीवेज ट्रीटमेंट प्लांट स्थापित किए जा रहे हैं. भोपाल (Bhopal) को देश का सबसे स्वच्छ एवं सुंदर शहर बनाया जाएगा.

मुख्यमंत्री (Chief Minister) चौहान ने कहा कि आलोक शर्मा बधाई के पात्र हैं जिन्होंने इसके लिए निरंतर प्रयास किए हैं. भोपाल (Bhopal) शहर की अपनी पहचान है. भोपाल (Bhopal) के विकास में लगा ग्रहण समाप्त हो गया है. हमारी सरकार भोपाल (Bhopal) के विकास को दोगुनी गति से संपन्न करवाएगी. मुख्यमंत्री (Chief Minister) चौहान ने इस अवसर पर राज्य सरकार (State government) द्वारा मिलावट के विरुद्ध अभियान, प्रलोभन देकर कर महिलाओं से विवाह करने और प्रताड़ना का शिकार बनाने के लिए कड़ी सजा के प्रावधान और कानून के निर्माण, लोक सेवा प्रबंधन विभाग की सेवाओं को बेहतर बनाने, सुशासन स्थापना के प्रयासों की जानकारी दी. मुख्यमंत्री (Chief Minister) चौहान ने नागरिकों से आह्वान किया कि कोरोना से बचाव की सावधानियां अपनाते रहे. शीघ्र ही वैक्सीन लगाने का कार्य प्रारंभ होगा जिसमें निर्धन तबके को यह सुविधा नि:शुल्क उपलब्ध करवाई जाएगी. कार्यक्रम में नगरीय प्रशासन मंत्री भूपेंद्र सिंह, प्रोटेम स्पीकर रामेश्वर शर्मा भी उपस्थित थे. कार्यक्रम में सांसद (Member of parliament) एवं प्रदेश भाजपा अध्यक्ष विष्णु दत्त शर्मा ने कहा कि आज नए और पुराने भोपाल (Bhopal) को जोड़ने के लिए इस ब्रिज का शुभारंभ हुआ है, जो महत्वपूर्ण सौगात है. पूर्व महापौर आलोक शर्मा ने कहा कि रानी कमलापति के बलिदान की गाथा से भोपाल (Bhopal) के नागरिक परिचित हैं. हमारा समाज वीरांगनाओं का सम्मान करता है. इसलिए ही रानी कमलापति की प्रतिमा स्थापना की पहल की गई. भोपाल (Bhopal) की सांसद (Member of parliament) साधवी प्रज्ञा ठाकुर ने मुख्यमंत्री (Chief Minister) चौहान के नेतृत्व में भोपाल (Bhopal) और प्रदेश के विकास के लिए किए जा रहे प्रयासों को महत्वपूर्ण बताया. इस अवसर पर विधायक श्रीमती कृष्णा गौर, भगवानदास सबनानी, सुमित पचौरी आदि उपस्थित थे.
मुख्यमंत्री (Chief Minister) शिवराज सिंह चौहान ने कुल 115 करोड़ रूपए के कार्यों का शुभारंभ किया. आज जिन निर्माण कार्यों का लोकार्पण किया, वे इस प्रकार हैं.

स्मार्ट पार्क

मुख्यमंत्री (Chief Minister) शिवराज सिंह चौहान ने सबसे पहले स्मार्ट पार्क का लोकार्पण किया. श्यामला हिल्स एवं पॉलिटेक्निक चौराहे की ओर जाने वाली सड़क के बीच बंजर पड़ी पहाड़ी को स्मार्ट पार्क का रूप दिया गया है. यह पार्क 11 एकड़ भूमि में विकसित है. सुगम आवागमन के लिए 36 मीटर चौड़ी सड़क बनाई गई है. स्मार्ट पार्क की लागत लगभग 7 करोड़ है. यह पार्क का प्रथम चरण है. लगभग 23 हजार 840 स्क्वायर मीटर के क्षेत्र को सिटी फॉरेस्ट के रूप में विकसित किया गया है. पार्क में लगभग 23 स्क्वायर मीटर का शानदार लान भी विकसित किया गया है. अशोक स्तंभ और लैंडस्कैपिंग में उपयोग किए गए शिल्प कला पार्क की खूबसूरत (Surat)ी को बढ़ाती है.

स्मार्ट रोड

मुख्यमंत्री (Chief Minister) चौहान ने भारत माता चौराहे से पॉलिटेक्निक चौराहे तक 43 करोड़ से निर्मित स्मार्ट रोड का भी लोकार्पण किया. यह 30 मीटर चौड़ी सड़क है. इसकी लंबाई लगभग सवा दो किलोमीटर है. यह चार लेन वाली सड़क है. सड़क के साइड में साइकिल ट्रैक भी बनाया गया है. इस सड़क को 80 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार के मान से डिजाइन किया गया है और यह पुराने भोपाल (Bhopal) को नए भोपाल (Bhopal) से जोड़ने का काम करेगी.

जाटखेड़ी ट्रांसफर स्टेशन

मुख्यमंत्री (Chief Minister) चौहान ने शहर को स्वच्छ रखने के लिए जाटखेड़ी में कचरा ट्रांसफर स्टेशन का भी लोकार्पण किया. इसमें ठोस अपशिष्ट निष्पादन के लिए 3 आधुनिक मशीनें लगाई गई हैं. पाँच करोड़ लागत के इस ट्रांसफर स्टेशन के बनने से साकेत नगर, शक्ति नगर और बाग मुगालिया और आसपास के क्षेत्रों को फायदा होगा. जाटखेड़ी ट्रांसफर स्टेशन में कचरा लेकर आने वाली गाड़ियों के गीले और सूखे कचरे का अलग-अलग वजन किया जा सकेगा. इस प्रक्रिया की मानिटरिंग भोपाल (Bhopal) स्मार्ट सिटी डेवलपमेंट कारपोरेशन के इंटीग्रेटेड कंट्रोल एंड कमांड सेंटर से की जाएगी. इसके अलावा भोपाल (Bhopal) स्मार्ट सिटी द्वारा बैरागढ़, भदभदा, दाना पानी, ट्रांसपोर्ट नगर, यादगार-ए-शाहजहानी पार्क, कोलार रोड में ट्रांसफर स्टेशन बनाए गए हैं. गोविंदपुरा औद्योगिक क्षेत्र बाबा नगर, ईदगाह हिल्स, राजेंद्रनगर और एलेक्जर गार्डन करोंद में भी ट्रांसफर स्टेशन बनाए जा रहे हैं.

सीवेज ट्रीटमेंट प्लांट

मुख्यमंत्री (Chief Minister) चौहान ने अमृत मिशन के तहत शिरीन नदी पर बनाये गए 50 एम.एल.डी. क्षमता के सीवेज वाटर ट्रीटमेंट प्लांट लोकार्पण का किया. इस प्लांट पर 20 करोड़ रुपये की लागत आयी है. मुख्यमंत्री (Chief Minister) चौहान ने यहीं साढ़े 11 करोड़ की लागत वाले चार इमली सीवेज ट्रीटमेंट प्लांट को भी लोकार्पित किया. उन्होंने प्लांट का मुआयना भी किया और सीवेज के पानी को ट्रीटमेंट से साफ कर तालाब में पानी छोड़ने के कार्य को भी देखा.

आर्च ब्रिज

मुख्यमंत्री (Chief Minister) चौहान ने लोकार्पण की श्रृंखला के अंत में रानी कमलापति आर्च ब्रिज का लोकार्पण किया. लगभग चालीस करोड़ लागत के इस ब्रिज से भोपाल (Bhopal) सहित प्रदेश के अन्य हिस्सों से आने वाले लोगों को फायदा मिलेगा. गिन्नौरी से किलोल पार्क के नजदीक बीआरटीएस कॉरिडोर तक स्टील आर्च ब्रिज की कुल लंबाई 200 मीटर है. इसके दोनों तरफ 534 मीटर की एप्रोच रोड बनाई गई है. आर्च ब्रिज की चौड़ाई 10.75 मीटर और आर्च की ऊंचाई 30 मीटर है. ब्रिज के दोनों तरफ 2 मीटर का फुटपाथ का भी निर्माण किया गया है. समारोह के दौरान ही यू.एन.आई.डी.ओ. के सहयोग से 30 करोड़ रुपये की लागत से सी.एन.जी. प्लांट बनाने के लिए भी अनुबंध किया गया. आदमपुर छावनी क्षेत्र में वेस्ट ट्रीटमेंट प्लांट पर यह इकाई स्थापित होगी.

दिखा जनता का उत्साह

नए और पुराने शहर के बाशिंदे आर्च ब्रिज के लोकार्पण अवसर पर काफी संख्या में उपस्थित हुए. लोकार्पण अवसर पर उत्सव का माहौल था. नए और पुराने भोपाल (Bhopal) के हजारों लोग नए ब्रिज पर मौजूद थे. पूरे लोकार्पण कार्यक्रम में नागरिक प्रसन्नता के भाव से भरे हुए थे. काफी संख्या में महिलाएं और बच्चे भी उपस्थित हुए.
जनहित में राज्य सरकार (State government) के बड़े फैसले
तय समय-सीमा में लोक सेवायें अपने आप ही आवेदक को मिल जावेगी : मुख्यमंत्री (Chief Minister) चौहान
मिलावट करने पर अब आजीवन कारावास

Please share this news