Friday , 14 May 2021

बच्चों से हैवानियत के आरोपित रिटायर लेखपाल रामबिहारी को रिमांड पर लेने की तैयारी

नई दिल्ली (New Delhi) . बच्चों से हैवानियत के आरोपित रिटायर लेखपाल रामबिहारी राठौर को पुलिस (Police) रिमांड पर लेने की तैयारी कर रही है. पेनड्राइव व हार्ड डिस्क में मिले वीडियो क्लिप्स में तमाम बच्चों के चेहरे दिख रहे हैं, लेकिन इन तक पहुंचना पुलिस (Police) के लिए चुनौती है. इसके लिए पुलिस (Police) रामबिहारी से पूछताछ करना चाहती है. रामबिहारी के पकड़े जाने के बाद पुलिस (Police) पर उसे तुरंत जेल भेजने का दबाव था, ऐसे में पुलिस (Police) उससे कुछ खास नहीं उगलवा पाई.

उसके कमरे से बरामद पेन ड्राइव, हार्ड डिस्क, मोबाइल और सीसीटीवी कैमरों की रिकार्डिंग से जो कुछ मिला उसके आधार पर पुलिस (Police) जांच में आगे बढ़ने की कोशिश कर रही है. अब तक फारेंसिक टीमों ने 50 से ज्यादा वीडियो क्लिप निकालने में सफलता हासिल की है, इसके अलावा इनसे डीलिट किए गए वीडियो भी रिकवर कराया जा रहा है. इन क्लिप में जिन बच्चों के चहरे नजर आ रहे हैं वह पुलिस (Police) के लिए अहम हैं. जिस तरह चित्रकूट के हैवान इंजीनियर के मामले में CBI यौन शोषण का शिकार 40-50 बच्चों तक पहुंची है, ठीक उसी तरह कोंच पुलिस (Police) रामबिहारी के शिकार बच्चों तक पहुंचना चाहती है. यही बच्चे लेखपाल को सजा तक पहुंचाने के लिए गवाह और पुख्ता साक्ष्य होंगे.

पुलिस (Police) लेखपाल को रिमांड पर लेकर इन बच्चों के बारे में पूछताछ करेगी, इसके अलावा उसके और कौन मददगार हैं यह भी जानने की कोशिश करेगी. पुलिस (Police) पर पीछे से आरोपित लेखपाल को रिमांड पर न लेने का दबाव भी है. जिस दबाव में पुलिस (Police) ने उसे आनन फानन जेल भेजा था, वैसा दबाव फिर पुलिस (Police) पर है. डर है कि रिमांड पर लेकर पुलिस (Police) ने कड़ाई से पूछताछ की तो कई और लोगों के राज खुल सकते हैं. उधर, जेल जाने के बाद पुलिस (Police) ने उसके शस्त्र लाइसेंस के निरस्तीकरण की कार्यवाही शुरू कर दी है. पुलिस (Police) ने अपनी रिपोर्ट भेज दी जिसके आधार पर जिलाधिकारी लाइसेंस निरस्तीकरण का आदेश करेंगे.

Please share this news