Wednesday , 23 June 2021

आयकर अधिकारी बन साले ने जीजा से 2.30 लाख की ठगी, पुलिस ने पकड़ा

पाली . राजस्‍थान में पाली के जैतारण में एक युवक ने फर्जी आयकर अ‎धिकारी बन अपने जीजा के साथ लाखों रुपये की ठगी की. ठगी का ‎शिकार हुए व्यापारी को उसके साले सहित 5 बदमाश ने आयकर अधिकारी बनकर आयकर बकाया होने और जांच पड़ताल के नाम पर 2 लाख 30 हजार रुपये का चूना लगाया है. हालांकि सरपंच और पुलिस (Police) की सूझबूझ से बदमाश फरार होने में सफल नहीं हो पाये, ले‎किन लोग हैरान हैं. जानकारी के मुता‎बिक, करीब दोपहर 1 बजे बिजली घर चौराहा जैतारण में हार्डवेयर एंड इलेक्ट्रिकल्स की दुकान की है, जहां 5 लोग फर्जी आयकर अधिकारी बनकर रविंद्र कुमावत की दुकान पर पहुंचे और उन्‍होंने कुमावत को दुकान का रिकॉर्ड दिखाने को कहा.

इस दौरान आरोपी सरवन कुमावत ने न सिर्फ दुकान का हिसाब-किताब देखने का नाटक किया बल्कि 3 महीने पहले व्यापारी बेंगलुरु (Bangalore) पहुंचने की पूरी जानकारी दी. उसने यह भी कहा कि आप हवाई यात्रा से बेंगलुरु (Bangalore) पहुंचे थे. कितनी तारीख को वहां पर पहुंचे और वहां इतने दिन रुके और वापस निकले. इसके अलावा बदमाशों ने हवाई यात्रा समेत विभिन्न जानकारी आयकर रिटर्न फाइल में दिखाने की बात कही. इसके बाद दुकान की तलाशी के दौरान दो लाख 30 हजार रुपये जब्त करते हुए आरोपियों ने दुकानदार को जयपुर (jaipur)ले जाने की बात कहकर डराया दिया. व्यापारी ने तुरंत निंबोल सरपंच अशोक कुमार को फोन कर इस घटना की पूरी जानकारी दी. वहीं, जब सरपंच ने उनको दुकान पर रुकने को कहा तो आरोपी वहां से निकल गए.

इस दौरान व्यापारी ने शक होने पर निंबोल सरपंच को बदमाशों के बर की तरफ निकलने की जानकारी दी. सूचना के बाद सरपंच ने बर चौकी प्रभारी राज दीपेंद्र सिंह को जानकारी दी. चौकी प्रभारी ने सजगता से कार्रवाई करते हुए आरोपियों को बर में ही पकड़ लिया और चौकी ले जाकर पूछताछ शुरू की. इस दौरान पता चला कि आरोपी तीन महीने से व्‍यापारी रेकी कर रहा था. अब पुलिस (Police) को आरोपियों से ओर भी कई राज खुलने की संभावना है. ‎फिलहाल पु‎लिस पूछताछ कर रही है.

Please share this news