Saturday , 19 June 2021

पंचायत चुनावों ने पकड़ी रफ्तार…… आपत्तियां होने लगी है दर्ज

ललितपुर . गांव में ओबीसी सीट की मांग को लेकर ग्रामीण जिला अधिकारी कार्यालय पहुंचे. जहां पर उन्होंने प्रदर्शन का जिला अधिकारी ए दिनेश कुमार के नाम एक ज्ञापन सौंपा. जिसमें उन्होंने मांग उठाई है कि गांव की ग्राम प्रधान चुनाव को लेकर ओबीसी सीट की जाए क्योंकि गांव में ओबीसी मतदाताओं की संख्या करीब 56% है और आजादी के बाद से लेकर अब तक गांव में ओबीसी सीट नहीं हुई है. जबकि हरिजन और सामान्य सीट कई बार हो चुकी है. हाल ही में ताजा मामला तहसील महरौनी के अंतर्गत ग्राम सिलावन का है.

मिली जानकारी के अनुसार ग्राम सिलावन आजकल किसी न किसी मामले को लेकर सुर्खियों में बना हुआ है. पहले गांव के ही एक व्यक्ति विष्णु तिवारी द्वारा बेगुनाह होते हुए भी 20 साल की सजा काटनी पड़ी. और जब वह जेल से रिहा किया गया तब उक्त गांव चर्चाओं में आया. इसके बाद गांव एक बार फिर चर्चाओं में आ रहा है जहां आजादी के बाद से लेकर आज तक ग्राम पंचायत चुनावों में ओबीसी सीट नहीं हो पाई है.

ग्रामीणों का आरोप है कि गांव में मतदाताओं की संख्या करीब 3600 है जिसमें ओबीसी की संख्या करीब 56% है. इसके बावजूद आजादी के बाद से लेकर अब तक यहां पर ग्राम प्रधान के चुनावों में ओबीसी सीट नहीं की गई है जबकि सामान्य और हरिजन सीट कई बार हो चुकी है. उन्हें भी चुनाव लड़ने का अधिकार है इसलिए अब की बार गांव में पंचायत चुनावों को देखते हुए ग्राम प्रधान की सीट ओबीसी कोटा में की जाए. ग्रामीणों ने इसी मांग को लेकर जिला अधिकारी को एक शिकायती पत्र देकर सीट बदलवाने की मांग उठाई है.

Please share this news