Friday , 16 April 2021

ओडिशा सतर्कता विभाग ने 2020 में 381 लोगों के खिलाफ 245 मुकदमे दर्ज किए

भुवनेश्वर (Bhubaneswar) . ओडिशा के सतर्कता विभाग ने 2020 में 381 लोगों के खिलाफ 245 आपराधिक मामले दर्ज किए हैं. आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि इन लोगों में 53 प्रथम श्रेणी के अधिकारी, 37 द्वितीय श्रेणी के अधिकारी और 76 निजी व्यक्ति शामिल हैं. उन्होंने बताया कि भ्रष्टाचार निरोधक इकाई ने बीते साल आय से अधिक संपत्ति के 245 मामले दर्ज किए, इनमें से 93 मामले 93 सरकारी कर्मचारियों और 45 निजी व्यक्तियों द्वारा आय से अधिक संपत्ति अर्जित करने से जुड़ा हुए है. सूत्रों ने बताया कि आय से अधिक संपत्ति से जुड़े 93 मामलों में कुल संपत्ति की कीमत 123.91 करोड़ रुपये है. 36 मामले ऐसे हैं जिनमें आय से अधिक संपत्ति का मूल्य एक करोड़ से चार करोड़ रुपये के बीच है. अधिकारी ने बताया, सतर्कता विभाग द्वारा आय से अधिक संपत्ति अर्जित करने का सबसे बड़ा मामला भारतीय वन सेवा (आईएफएस) के एक अधिकारी के खिलाफ दर्ज किया गया जिनके पास से 9.35 करोड़ रुपये की संपत्ति आय के ज्ञात स्रोत से अधिक मिली है.

उन्होंने बताया कि इस मामले में आय से अधिक संपत्ति का पता लगाने के लिए ओडिशा सतर्कता विभाग के 150 अधिकारियों ने चार राज्यों में लगातार दो दिनों तक तलाशी एवं सत्यापन की कार्रवाई को अंजाम दिया. इसके अलावा विभाग ने इस साल आठ सरकारी अधिकारियों (चार प्रथम श्रेणी के अधिकारी और चार द्वितीय श्रेणी के अधिकारी) के पास से 26,95,440 रुपये की बेनामी नकदी पकड़ी. उन्होंने बताया कि सतर्कता विभाग ने 113 सरकारी अधिकारियों और दो निजी व्यक्तियों द्वारा कुल 16.62 लाख रुपये रिश्वत मांगने के 103 मामलों में कार्रवाई की, इनमें प्रथम श्रेणी के नौ, द्वितीय श्रेणी के 16, तृतीय श्रेणी के 80, चतुर्थ श्रेणी के चार और चार अन्य सरकारी कर्मचारी शामिल थे.

Please share this news