Wednesday , 30 September 2020

भारत में कोरोना संक्रमितों की संख्या 40 लाख के पार, 69 हजार से ज्यादा मौते


नई दिल्ली (New Delhi) . भारत में कोरोना संक्रमितों की संख्या लगातार बढ़ रही है. आज देश में 78288 नए कोरोना संक्रमित मिलने के साथ ही संक्रमितों की संख्या 40 लाख के पार पहुंच चुकी है और देश में 69 हजार से अधिक मरीजों की इस संक्रमण से मौत हो चुकी है. देश में इस संक्रमण से 30 लाख से अधिक मरीज ठीक हुए हैं अब 8 लाख से अधिक एक्टिव केस हैं.

कोरोना संक्रमण के मामले में महाराष्ट्र (Maharashtra) दुनिया के बड़े देशों के मुकाबले में आ गया है. यहां प्रतिदिन 15,000 से ऊपर नए मरीज मिल रहे हैं. शुक्रवार (Friday) को यहाँ 18 हजार से अधिक-नए मरीज मिले और पीड़ितों की संख्या बढ़कर 8 लाख 61 हजार से अधिक हो गई. यहाँ 25 हजार से अधिक लोगों की मौत हो चुकी है, जबकि 6 लाख से अधिक ठीक हो चुके हैं. इस प्रकार एक्टिव मरीज के मामले में महाराष्ट्र (Maharashtra) रूस से आगे है. आंध्रप्रदेश में भी संक्रमण तेजी से फैल रहा है. यहां कई दिनों से 10,000 से ऊपर नए मरीज प्रतिदिन मिल रहे हैं. शुक्रवार (Friday) को 10,776 नए मरीज मिलने के साथ पीड़ितों की संख्या बढ़कर 4,76,506 हो गई. इनमें से 4276 की मौत हो चुकी है जबकि 3,70,163 ठीक हो चुके हैं. इन राज्यों के अलावा शुक्रवार (Friday) को तमिलनाडु में 5976, कर्नाटक (Karnataka) में 9280, उत्तरप्रदेश (Uttar Pradesh) में 6074, दिल्ली में 2914, पश्चिम बंगाल (West Bengal) में 2978, बिहार (Bihar)में 1978, तेलंगाना में 2478, ओडिशा में 3267, गुजरात में 1320, राजस्थान (Rajasthan) में 738, केरल में 2479, हरियाणा (Haryana) में 1884, मध्यप्रदेश (Madhya Pradesh) में 1658, पंजाब (Punjab) में 1498, जम्मू-कश्मीर में 1047 और छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) में 1756 नए संक्रमित मरीज मिले.

अनेक राज्यों के आंकड़े देर रात तक अपडेट नहीं हुए थे. आंकड़े अपडेट होने पर शुक्रवार (Friday) को मिले संक्रमित मरीजों की संख्या 80 हजार से ऊपर पहुंच सकती है. प्रतिदिन मिलने वाले मरीजों की संख्या भारत में नए रिकॉर्ड स्थापित कर रहा है. भारत में सक्रिय मरीजों की संख्या बढ़ना चिंताजनक है. वर्तमान में प्रतिदिन 10 लाख से अधिक कोरोना टेस्ट भारत में किए जा रहे हैं और मरीजों के मिलने की दर 8% है जो कि विश्व स्वास्थ्य संगठन (World Health Organization) के 5% के मानक से अधिक है. नए मरीजों के मिलने की रफ्तार 5% से कम होने की स्थिति में माना जाता है कि कोरोनावायरस नियंत्रण में है. हालांकि स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा है कि अभी भारत में कम्युनिटी स्प्रेड की स्थिति नहीं बनी है.