Friday , 27 November 2020

अब जिला मुख्यालय पर पोस्ट कोविड क्लिनिक व वार्ड/आईसीयू संचालित होंगे


उदयपुर (Udaipur). राज्य सरकार (Government) के चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग के निर्देशानुसार राज्य के प्रत्येक जिला मुख्यालय पर पोस्ट कोविड क्लिनिक एवं पोस्ट कोविड वार्ड/आईसीयू संचालित करने के संबंध में जिला कलक्टर (District Collector) चेतन देवड़ा की अध्यक्षता शुक्रवार (Friday) को बैठक हुई. कलक्टर ने इसके संचालन के संबंध में संबंधित चिकित्साधिकारियों से चर्चा कर आवश्यक व्यवस्थाएं सुनिश्चित करते हुए 24 अक्टूबर से ही पोस्ट कोविड केयर के संचालन के निर्देश दिए.

कलक्टर ने बताया कि कोविड 19 के पॉजिटिव मरीज जो उपचार के बाद रिकवर हो चुके है लेकिन रिकवर होने के बाद उन्हें कोई समस्या अथवा सिम्पटम्स यथा सांस लेने में तकलीफ, मानसिक तनाव, शुगर बढ़ना, हृदय या बीपी की तकलीफ, गुर्दें संबंधी समस्या या पेंक्रियाज के लक्षण पाये जाये, उनके लिए राज्य सरकार (Government) के चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग के प्रमुख शासन सचिव के निर्देशानुसार जिले में पोस्ट कोविड केयर क्लिनिक का संचालन किया जा रहा है.

कलक्टर के निर्देशानुसार यह पोस्ट कोविड केयर क्लिनिक महाराणा भूपाल चिकित्सालय, उदयपुर (Udaipur) के स्कीन एवं वी.डी. ब्लॉक के भूतल पर ओ.पी.डी. का संचालन प्रातः 9 बजे से सांय 7 बजे तक चलेगा. पोस्ट कोविड वार्ड महाराणा भूपाल चिकित्सालय, उदयपुर (Udaipur) के स्कीन एवं वी.डी. ब्लॉक के द्वितीय फ्लोर पर 50 बेड का वार्ड संचालित किया जायेगा. पोस्ट कोविड आई.सी.यू.महाराणा भूपाल चिकित्सालय, उदयपुर (Udaipur) के स्कीन एवं वी.डी. ब्लॉक के भूतल पर 20 बेड का आई.सी.यू. संचालित किया जायेगा.इस तरह 70 बेड पोस्ट कोविड केयर हेतु आरक्षित रहेगें, जिसके नोडल अधिकारी डॉ. एम.पी. जैन, (मो.नं. 9166763307) महाराणा भूपाल चिकित्सालय, उदयपुर (Udaipur) होगें. कलक्टर ने  पोस्ट कोविड केयर के लिये फिजिसियन, आयुष चिकित्सक, काउंसलर एवं एनेस्थेटिक द्वारा चिकित्सकीय रिहेबिलिटेशन, काउंसलिंग की सुविधायें आज से ही संचालित करने के निर्देश दिए है.

कलक्टर ने यह भी बताया कि इन सभी लक्षणों के मिलने या समस्या होने पर संबधित व्यक्ति मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी के वॉर रूम में 6367304312 नंबर पर भी सम्पर्क कर सकता है. बैठक में एडीएम प्रशासन चिकित्सा विभाग के संयुक्त निदेशक जेड ए काजी, आरएनटी प्राचार्य लाखन पोसवाल, सीएमचओ डॉ. दिनेश खराड़ी, डॉ. आरएल सुमन और कई अन्य अधिकारी मौजूद थे.