Sunday , 27 September 2020

कभी भी वास्तविक नियंत्रण रेखा का उल्लंघन नहीं किया – चीनी विदेश मंत्रालय


नई दिल्ली (New Delhi) . चीनी विदेश मंत्रालय ने कहा है कि चीन ने कभी भी वास्तविक नियंत्रण रेखा का उल्लंघन नहीं किया. चीनी विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता झाव लीजियान ने कहा कि भू-क्षेत्र को लेकर दोनों देशों के बीच बातचीत जारी है. चीन का यह ब्यान भारत-चीन सीमा पर चीन की तरफ से दूसरी बार झड़प की ख़बरों के बाद आया है.

चीन लगातार दावा करता रहा है कि उसने वास्तविक नियंत्रण रेखा का उल्लंघन नहीं किया है, लेकिन ये भी ये सच्चाई है कि वह वास्तविक नियंत्रण रेखा का अलायमेंट ज़मीन के उस हिस्से पर बताता है जो भारतीय क्षेत्र में आता है. वास्तविक नियंत्रण रेखा की समझ में अंतर होने के कारण यह विवादित क्षेत्र रहा है. पैंगॉग त्सो इलाके में भारत फिंगर 8 तक पेट्रोल (Petrol) करता रहा है, क्योंकि भारत के मुताबिक एलएसी वहां से है. जबकि चीन फिंगर 4 तक पेट्रोल (Petrol) करता रहा है. दोनों के बीच क़रीब 4 से 6 किलोमीटर का अंतर है.

मई में चीन ने यथास्थिति को बदलने की कोशिश करते हुए फिंगर 4 तक घुस आया. इसके बाद से ही भारत और चीन के बीच लगातार तनाव बना हुआ है. चीनी सेना के साथ 17 जून को हुई झड़प में 20 भारतीय सैनिको की शहादत भी हुई.

चीन की तरफ से एक बार फिर यथास्थिति बदलने की कोशिश हुई है. भारतीय सेना की तरफ से जारी बयान में कहा गया है कि 29-30 अगस्त की रात को चीनी सेना ने पिछली सहमतियों को धत्ता बताते हुए सैन्य गतिविधि के ज़रिए यथास्थिति बदलने के कोशिश की. पैंगोंग त्सो के दक्षिणी तट पर चीन की तरफ से की गई इस कोशिश को चौकस भारतीय सेना ने विफल कर दिया.