Tuesday , 20 April 2021

सुरक्षित यूपी जेल पहुंचाया गया मुख्तार

बांदा . पंजाब (Punjab) के रोपड़ से यूपी के बांदा तक साढ़े 14 घंटे के सफर के बाद गैंगस्टर विधायक मुख्तार अंसारी बुधवार (Wednesday) तड़के 4.30 बजे बांदा जेल पहुंच गया. पंजाब (Punjab) में जहां मुख्तार व्हील चेयर से एंबुलेंस (Ambulances) में सवार हुआ था, वहीं बांदा जेल में वह अपने पैरों पर खड़ा होकर अंदर गया. डॉक्टर्स के पैनल की जांच में वह पूरी तरह फिट पाया गया.

हालांकि, वह घबराया हुआ था. बांदा जेल में मुख्तार को जेल प्रशासन ने सरप्राइज दिया. शुरुआत में उसे बैरक नंबर 15 में रखे जाने का फैसला लिया गया था. इस बैरक में मुख्तार पहले भी रह चुका है, लेकिन अब उसे बैरक नंबर 16 में भेज दिया गया. उसका कोरोना टेस्ट होना है. इसकी रिपोर्ट आने के बाद उसे बैरक नंबर 15 में रखा जाएगा. इसे तन्हाई जेल भी कहा जाता है. यानी इस बैरक में कोई और कैदी नहीं होगा. इस बैरक में कैमरे भी लगाए गए हैं. बांदा जेल में क्षमता 558 कैदियों की है, लेकिन यहां 780 कैदी हैं. 1860 में ब्रिटिश हुकूमत के समय बनी ये जेल ओवरलोडेड है. ऐसे में सिक्योरिटी पर असर पड़ता है.

वीआईपी ट्रीटमेंट नहीं मिलेगा

प्रदेश सरकार के जेल मंत्री जय प्रताप सिंह जैकी ने कहा कि मुख्तार अंसारी को बांदा जेल के अंदर किसी भी तरह का वीआईपी ट्रीटमेंट नहीं मिलेगा. आम कैदियों की ही तरह उसे सुविधाएं दी जाएंगी. उसकी हर एक एक्टिविटी पर नजर रखी जाएगी. जेल के अंदर आने वाले हर व्यक्ति पर भी नजर रखी जाएगी. गैंगस्टर मुख्तार के खिलाफ 53 गंभीर मामले दर्ज हैं. उसके बांदा जेल में शिफ्ट होने पर जेल के बाहर भी सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए गए हैं. यहां 30 जवान तैनात किए गए हैं. बताया जा रहा है कि सुरक्षा को देखते हुए जिले में हाल ही में आए नए किराएदारों का वेरिफिकेशन भी करवाया जाएगा.

Please share this news