Wednesday , 23 June 2021

लॉकडाउन के साये में एमपीपीएससी की परीक्षा

जबलपुर, 21 मार्च . एक तरफ प्रशासनिक अधिकारी जिले को कोरोना से बचाने और लॉकडाउन (Lockdown) का पालन कराने मैदान में थे, तो दूसरी तरफ भावी प्रशासनिक अधिकारी लॉकडाउन (Lockdown) के पहरे और कोरोना के खौफ के बीच मध्य प्रदेश लोक सेवा आयोग की परीक्षा दे रहे थे. एमपीपीएससी की परीक्षा सुबह 7 बजे शुरु हुई. दो चरणों में आयोजित परीक्षा के लिए कोरोना (Corona virus) तथा लॉकडाउन (Lockdown) के मद्देनजर शासन के निर्देश पर जिला प्रशासन द्वारा व्यापक इंतजाम किए गए. इसके तहत जेसीटीएसएल की बस आईएसबीटी और रेलवे (Railway)स्टेशन से परीक्षार्थियों को लेकर केंद्र पहुंची. तो परीक्षा के बाद गंतव्य स्थान तक पहुंचाने के लिये बसे तैयार रहीं. 21 मार्च से 26 मार्च तक आयोजित परीक्षा शासकीय महिला पॉलिटेव्निâक महाविद्यालय होमसाइंस कॉलेज, मॉडल हाई स्कूल,सरकारी स्कूल अधारताल को केंद्र बनाया गया. कड़ी सुरक्षा-व्यवस्था के बीच आयोजित परीक्षा हेतु परीक्षार्थियों को एक घंटा पूर्व तक प्रवेश दिया गया.

प्रवेश पत्र बना पास …………..

कोविड-19 (Covid-19) गाइडलाइन का पालन करते हुए मास्क, फेस शील्ड, सेनेटाईजर (पारदर्शी 50 मि.लि. बॉटल) इत्यादि के साथ परीक्षार्थी पहुंचे. प्रवेश पत्र, पारदर्शी पानी की बॉटल, पारदर्शी सेनेटाईजर की बोतल के अतिरिक्त मोबाईल, कैलकुलेटर, पेजर, स्मार्ट वॉच, इलेक्ट्रानिक डिवाइस आदि के साथ परीक्षा केन्द्र में प्रवेश वर्जित रहा. शनिवार (Saturday) रात्रि 10 बजे से प्रात: 6 बजे तक नाइट कर्फ्यू (Curfew) के बीच आए परीक्षार्थियों को उनका प्रवेश पत्र देख कर जाने दिया गया. रोलनम्बर सहित प्रवेश-पत्र लिए परीक्षाथिNयों के वाहनों को भी आने-जाने दिया गया.

आधा दर्जन मेट्रो तैनात ………..

रविवार (Sunday) को लॉकडाउन (Lockdown) और प्रतियोगी परीक्षाएं एक साथ फसने से परीक्षाथिNयों की सुविधा को ध्यान में रखकर आधा दर्जन से ज्यादा मेट्रो बसें लगाई गईं, ताकि छात्र-छात्राओं को परीक्षा केंद्रों तक पहुंचने में कोई दिक्कत न हो. जेसीटीसीएल सीईओ सचिन विश्वकर्मा ने बताया कि एमपी पीएससी की परीक्षा के लिए मॉडल हाई स्कूल, महिला पॉलिटेक्निक कॉलेज सहित अन्य परीक्षा केंद्र बनाए हैं. ऐसे में बाहर से आने वाले छात्र-छात्राओं को लॉकडाउन (Lockdown) की वजह से परीक्षा केंद्र तक पहुंचाने के लिए चार बसे आईएबीटी बस स्टैंड में और चार बसे रेलवे (Railway)स्टेशन में खड़ी गई हैं. ताकि परीक्षार्थी नॉमिनल चार्ज देकर केंद्र तक पहुंच सकें.

Please share this news