Thursday , 15 April 2021

सबसे ज्यादा इंदिरापुरम के लोगों से हुई साइबर ठगी, अधिकतर केसो का खुलासा नहीं

गाजियाबाद (Ghaziabad) . 2020 में गाजियाबाद (Ghaziabad) जिले के इंदिरापुरम के लोग सबसे ज्यादा साइबर क्राइम के शिकार हुए. ट्रांस हिंडन के सभी थानों में सबसे ज्यादा साइबर क्राइम के केस इंदिरापुरम थाने में दर्ज हुए. इस थाने में पूरे वर्ष में करीब 170 केस दर्ज किए, जबकि पुलिस (Police) द्वारा जारी आंकड़ों के मुताबिक, जिले भर में करीब 1866 मामले दर्ज हुए हैं. इनमें केवाईसी कराने और एटीएम और क्रेडिट कार्ड अपडेट करने के नाम पर सबसे अधिक ठगी की गई. साइबर अपराध को अंजाम देने वाले अधिकांश नंबर झारखंड और बंगाल के निकले. इनमें से ज्यादातर मामलों का खुलासा नहीं हो सका. दिल्ली-एनसीआर में रहने वाले लोग साइबर ठगों के निशाने पर हैं. दिल्ली से सटे इंदिरापुरम के लोग भी साइबर ठगी से अछूते नहीं हैं. ठगों ने ट्रांस हिंडन में सबसे अधिक इंदिरापुरम क्षेत्र में रहने वाले लोगों को अपना निशाना बनाया है. पॉश एरिया और अधिकांश शिक्षित वर्ग होने के बाद भी लोग ठगों से अपने आप को नहीं बचा सके.

 इंदिरापुरम थाने में 2020 में करीब 170 साइबर क्राइम के मामले दर्ज किए गए, जबकि साहिबाबाद में 40, टीलामोड़ में 20, कौशांबी में 25 और खोड़ा थाने में 18 मुकदमे दर्ज किए गए. इसमें सबसे ज्यादा ठगी एटीएम और क्रेडिट कार्ड के माध्यम से हुई है. जबकि फेसबुक, इंस्टाग्राम, व्हाट्सएप, ट्विटर, ऑनलाइन शॉपिंग, देशभक्ति, केवाईसी कराने का झांसा देकर भी ठगी की गई है.

Please share this news