Friday , 14 May 2021

रेल मंत्रालय ने लौह अयस्क से जुड़ी नई नीति लागू की

नई दिल्ली (New Delhi) . भारतीय रेलवे (Railway)ने बोगियों के आवंटन और लौह अयस्क की ढुलाई का नियमन करने वाली लौह अयस्क से जुड़ी नई नीति की घोषणा की है. नई नीति का उद्देश्य ग्राहकों की वर्तमान आवश्यकताओं को पूरा करना और ग्राहकों को यह सुनिश्चित करना है कि भारतीय रेलवे (Railway)लौह अयस्क ग्राहकों की माल ढुलाई से जुड़ी आवश्यकताओं को पूरा करने के साथ-साथ इस्पात उद्योग की माल ढुलाई से संबन्धित सभी सहूलियतें उपलब्ध कराने के लिए प्रतिबद्ध है ताकि इस्पात उद्योग घरेलू और वैश्विक प्रतिस्पर्धा की चुनौतियों का सामना करने योग्य बन सके. इस्पात का उत्पादन मुख्य तौर पर लौह अयस्क समेत अन्य कच्चे माल के परिवहन पर निर्भर करता है. नई नीति में यह साफ तौर पर स्पष्ट कर दिया गया है कि उपलब्ध लोडिंग-अनलोडिंग समेत सभी बुनियादी ढांचागत सुविधाओं का इस्तेमाल करते हुए ग्राहकों की सभी आवश्यकता को पूरा किया जाएगा. नई नीति को ‘लौह अयस्क नीति-2021’ नाम दिया गया है और यह 10 फरवरी,2021 से प्रभावी हो जाएगी. नई नीति के अनुसार सीआरआईएस बोगियों (रेक्स) के आवंटन प्रणाली में बदलाव करेगी.

Please share this news