Tuesday , 15 June 2021

गुरुग्राम में हर मंगलवार को बंद रहेंगी मीट की दुकानें

गुरुग्राम (Gurugram) .गुरुग्राम (Gurugram)शहर में सभी मीट की दुकानें मंगलवार (Tuesday) को बंद रहेंगी. गुरुग्राम (Gurugram)नगर निगम (एमसीजी) ने गुरुवार (Thursday) को हुई सदन की बैठक में यह फैसला लिया गया. कुछ पार्षदों ने बैठक के दौरान धार्मिक भावनाओं का हवाला देते हुए यह मुद्दा उठाया और विचार-विमर्श के बाद प्रस्ताव पास कर दिया गया.

नगर निगम अधिकारियों के अनुसार, शहर में 129 लाइसेंसी मीट की दुकानें हैं, जिनमें 150 से अधिक अवैध रूप से चल रही हैं. उन्होंने कहा कि हरियाणा (Haryana) नगर निगम, 2008 के प्रावधानों के अनुसार, राज्य भर में किसी भी नगर निगम के पास तत्काल प्रभाव से सप्ताह में एक दिन मीट की दुकानें बंद करने की शक्ति है. नगर निगम ने मीट शॉप मालिकों को लाइसेंस जारी करने और लाइसेंस फीस को दोगुना (guna) बढ़ाकर 5,000 से 10,000 तक करने को लेकर सदन के समक्ष एक प्रस्ताव रखा था.

प्रस्ताव पर चर्चा के दौरान क्रमश: वार्ड नंबर-23 और 21 के पार्षद अश्वनी शर्मा और धर्मबीर सिंह ने कहा कि नगर निगम को लाइसेंस फीस बढ़ाकर 50,000 रुपये कर देनी चाहिए और धार्मिक भावनाओं का हवाला देते हुए मंगलवार (Tuesday) को मीट की दुकानें बंद रखने का अनुरोध किया हालांकि, निगमायुक्त विनय प्रताप सिंह ने कहा कि भोजन एक व्यक्तिगत पसंद है. उन्होंने कहा, ”किसी को इस तरह के मुद्दे नहीं उठाने चाहिए, आप मंगलवार (Tuesday) को मीट की दुकानों को बंद करने में विश्वास कर सकते हैं. मेरी राय में, यह एक व्यक्तिगत पसंद है. मैं मीट खाता हूं, लेकिन मेरी पत्नी नहीं खाती. मैं उसे मजबूर नहीं करता, और वह मुझे मजबूर नहीं करती. जब घरों में इस मुद्दे पर मतभेद होते हैं, तो सदन को पूरे शहर के संबंध में कोई भी निर्णय लेने से पहले इस पर एक बार गंभीर विचार जरूर करना चाहिए.

अधिकारियों के व्यापक निर्णय के बाद लाइसेंस फीस 5,000 से बढ़ाकर 10,000 तक करने के प्रस्ताव को मंजूरी दी गई. अधिकारियों ने माना कि लाइसेंस फीस 50,000 रुपये करना संभव नहीं था. बैठक के दौरान, निगमायुक्त विनय प्रताप सिंह ने यह भी कहा कि नगर निगम को अवैध मीट की दुकानों पर लगाए गए जुर्माने को 500 से बढ़ाकर 5,000 करना चाहिए और इसे भी सर्वसम्मति से पारित कर दिया गया.

Please share this news