Friday , 16 April 2021

मधुभट्ट के ध्रुपद गायन से शीतल बयार में आई गरमाहट…

ग्वालियर (Gwalior) .जयपुर (jaipur)से आईं ध्रुपद गायिका डॉ. मधु भट्ट तैलंग की प्रस्तुति ने रसिकों पर गहरी छाप छोड़ी. तानसेन समारोह में मंगलवार (Tuesday) को प्रातःकालीन सभा में चल रही शीतल बयार के बीच डॉ. मधु भट्ट का गायन हुआ तो वातावरण में गरमाहट दौड़ गई.

उन्होंने राग ” कोमल ऋषभ आशावरी” में आलापचारी करते हुए धमार ताल में बंदिश ” लाजन भीज गई” का खनकदार आवाज में गायन किया. इसके बाद शुद्ध धैवत के राग ” गुनकली” में तानसेन रचित बंदिश “जय शारदे भवानी” का गायन कर सुर सम्राट को स्वरांजलि अर्पित की. इसी के साथ उन्होंने अपने गायन को विराम दिया.उनके गायन में तिहाइयां एवं चक्करदार का उपयोग संगीतप्रेमियों के लिए सुनने योग्य था. उनके साथ पखावज पर अंकित पारिख और सारंगी पर आबिद हुसैन की संगत को भी रसिकों ने खूब सराहा.

Please share this news