Monday , 14 June 2021

छाप रहे थे नकली नोट, फर्क करना हुआ मुश्किल, २ आरोपी गिरफ्तार

बुलंदशहर (Bulandshahr) . बुलंदशहर (Bulandshahr) में स्वाट टीम ने प्रिंटर की मदद से नकली नोट छापने वाले दो शातिर आरोपियों को पकड़ा है, जबकि एक आरोपी फरार हो गया. पुलिस (Police) ने आरोपियों के पास से 3.36 लाख रुपये के बने-अधबने नकली नोट, प्रिंटर, इंक, कागज और बाइक बरामद की है. नकली नोटों को आरोपियों द्वारा बाजार में चलाने के अलावा 40 प्रतिशत दामों पर बेचा भी जाता था. पुलिस (Police) के अनुसार पंचायत चुनाव में भी नकली नोटों का प्रयोग वोटों को खरीदने के लिए किया जाना था.

एसएसपी संतोष कुमार सिंह का कहना है कि एसपी क्राइम कमलेश बहादुर के दिशा-निर्देशन में स्वाट टीम ने एक सूचना पर सिकंदराबाद के जोखाबाद क्षेत्र से बाईपास तिराहे के पास से एक बाइक सवार आरोपी फरमान पुत्र इलियास कुरैशी निवासी डासना, थाना मसूरी(गाजियाबाद (Ghaziabad) ) को पकड़ा गया. पकड़े गए आरोपी फरमान से पूछताछ के आधार पर गाजियाबाद (Ghaziabad) के थाना मंसूरी क्षेत्र के मोहल्ला किला वार्ड में एक मकान में दबिश देकर वहां से उसके साथी आरोपी फखरू पुत्र जबरूद्दीन को पकड़ लिया गया. उस घर से 2000, 500, 200 व 100 रुपये के 1.15 रुपये के बने हुए नकली नोट और 2.21 लाख रुपये के अधबने नकली नोट बरामद किए गए.

पुलिस (Police) की गिरफ्त में आए दोनों आरोपियों ने बताया कि वह अपने फरार साथी के साथ मिलकर आरोपी फखरू के मकान में प्रिंटर से नकली नोट छापते थे. इन नकली नोटों को दिल्ली के सीमापुरी एवं अन्य क्षेत्र सहित लोनी (गाजियाबाद (Ghaziabad) ), बुलंदशहर (Bulandshahr) आदि स्थानों पर फलवालों, सब्जीवालों, दूधवालों, ठेलेवालों, जूसवालों व बिरयानी वालों आदि छोटे दुकानदारों के पास चला दिया जाता था. इसके अलावा 40 प्रतिशत असली करंसी लेकर नकली करंसी देते थे. नकली नोटों का उपयोग पंचायत चुनाव के दौरान वोटों को खरीदने में भी किए जाने की आशंका है. हालांकि अभी तक की जांच में इसकी पुष्टि नहीं हुई है. पुलिस (Police) हर बिंदु पर जांच कर रही है. एसएसपी ने बताया कि नकली नोट पकड़ने वाली टीम को 25 हजार रुपये का इनाम दिया जाएगा.

Please share this news