Sunday , 27 September 2020

चीन के अतिक्रमण का करारा जवाब देगा भारत


नई दिल्ली (New Delhi) . चीन के साथ सीमा विवाद को लेकर भारत ने कहा है कि अगर ऊंचाई पर स्थित हमारी सुरक्षा को चुनौती देने की कोशिश की गई तो भारत इसका मुंहतोड़ जवाब देगा. लद्दाख में एलएसी के आसपास भारत और चीन के बीच बढ़ते तनाव के बीच सेना का यह बयान सामने आया है.

ज्ञात रहे कि हाल में चीन की ओर से वास्तविक नियंत्रण रेखा पर उकसाने वाले कदम उठाए गए हैं. सरकार (Government) से जुड़े शीर्ष सूत्रों ने कहा, ‘अब हम किसी भी तरह से तैयारी में कमतर (अंडरप्रिपेयर्ड) नहीं हैं.’ अधिकारियों ने कहा, चीनी अपनी स्थिति को मजबूत करने के लिए कुछ न कुछ करने की कोशिश करेंगे. उनकी यह कार्रवाई शीर्ष स्‍तर से नियंत्रित होती है न कि स्‍थानीय कमांडर स्‍तर पर. सूत्र कहते हैं, ‘हम समझ नहीं पा रहे, चीनी इतने अधिक फ्रंट पर सामने क्‍यों आ रहा है.’ सेना ने अपनी पोजीशन पर कंटीले तार लगाए हैं. यदि चीन ने इसे पार करने की कोशिश की तो यह ‘रेड लाइन’ क्रॉस करने जैसा होगा.

सूत्रों ने कहा, फिंगर 4 पर भारतीय सेना इस समय ऊंचाई पर चीन के खिलाफ ‘बढ़त’ की स्थिति में है. यह पोस्‍ट पैंगोंग लेक के उत्‍तरी किनारे पर स्थित है. दो सप्‍ताह से अधिक समय से चीन की कार्रवाई पैंगोंग लेक के दक्षिण किनारे पर ही केंद्रित रही है. इस समय पूर्वी लद्दाख में तैनात 50 हजार चीनी सैनिकों में से पांच से सात हजार दक्षिण पैंगोंग के पार डेरा जमाए हुए हैं.