Thursday , 1 October 2020

कोरोना संक्रमण 34 लाख के पार, मौत के मामले में भारत मेक्सिको से आगे


नई दिल्ली (New Delhi) . शुक्रवार (Friday) को भारत में कोरोना संक्रमण के 74,686 नए मामले सामने आने के साथ ही पीड़ितों की संख्या बढ़कर 34,59,263 हो गई. जिस रफ्तार से भारत में कोरोनावायरस संक्रमण बढ़ रहा है उसे देखते हुए यह संभावना जताई जा रही है कि भारत जल्द ही ब्राजील और अमेरिका को पीछे छोड़ कर दुनिया का सबसे ज्यादा कोरोना संक्रमित देश बन जाएगा. कोरोना के जनक चीन के मुकाबले भारत में 34 गुना (guna) ज्यादा संक्रमित मिल चुके हैं और लगातार मिलना जारी है. चीन में जहां कोरोनावायरस संक्रमण करीब-करीब नियंत्रित हो चुका है, वहीं भारत में अब रोज नए कीर्तिमान बन रहे हैं. भारत में इस बीमारी से अब तक 26 लाख 44 हजार 717 लोगों को मुक्ति मिल चुकी है किंतु 62,691 लोगों की मौत हो गई है. इस प्रकार मौत के मामले में भारत अब मेक्सिको से आगे होकर दुनिया में तीसरे नंबर पर पहुंच गया है.

कोरोना से सबसे ज्यादा संक्रमित महाराष्ट्र (Maharashtra) में शुक्रवार (Friday) को 14,427 नए संक्रमित मिलने के साथ ही पीड़ितों की संख्या बढ़कर 747995 हो गई. राज्य में अब तक 23,775 लोगों की मौत कोरोना के चलते हुई है जो कि देश की कुल मौतों की 35.92% है. इस प्रकार देश के अधिकांश मरीज महाराष्ट्र (Maharashtra) में मिल रहे हैं और मौतें भी सबसे ज्यादा हो रही हैं. यहां पर 5,43,170 मरीजों को कोरोनावायरस से मुक्ति मिल चुकी है. इस प्रकार 1,80,718 एक्टिव केस हैं.

महाराष्ट्र (Maharashtra) के अलावा तमिलनाडु, आंध्रप्रदेश, कर्नाटक (Karnataka), उत्तरप्रदेश (Uttar Pradesh) और ओडीशा जैसे राज्यों से भी बड़ी तादाद में नए संक्रमित मरीज मिल रहे हैं. शुक्रवार (Friday) को तमिलनाडु में 5996 तथा आंध्रप्रदेश में 10,526 नए संक्रमित मरीज मिले. अब दोनों राज्यों में पीड़ितों की संख्या चार लाख से ऊपर पहुंच गई है और जिस गति से आंध्रप्रदेश में नए संक्रमित मिल रहे हैं उसे देखते हुए आशंका है कि रविवार (Sunday) तक आंध्रप्रदेश तमिलनाडु को पीछे छोड़कर संक्रमण के मामले में दूसरे नंबर पर पहुंच जाएगा. कर्नाटक (Karnataka) में भी संक्रमण तेजी से फैल रहा है. शुक्रवार (Friday) को यहां 8960 मरीज मिलने के साथ पीड़ितों की संख्या बढ़कर 3,18,752 हो गई. जनसंख्या की दृष्टि से सबसे बड़े उत्तरप्रदेश (Uttar Pradesh) में आंकड़े भले ही भयावह ना हों लेकिन यहां भी प्रतिदिन 5000 से ऊपर नए संक्रमित मरीज मिल रहे हैं.

शुक्रवार (Friday) को यहां 5405 नए संक्रमित मरीज मिले. छोटे राज्यों में उड़ीसा की स्थिति चिंताजनक है. यहां शुक्रवार (Friday) को 3682 नए संक्रमित मिलने के साथ ही पीड़ितों की संख्या बढ़कर 94,668 हो गई. हालांकि यहां पर कुल 509 लोगों की मौत हुई है और मृत्यु दर अपेक्षाकृत कम है. यही हाल केरल का है जहां प्रतिदिन दो हजार से ऊपर नए मरीज मिल रहे हैं, परंतु मृत्यु दर बहुत कम है. यहां 69304 संक्रमित मिले हैं. जबकि 275 लोगों की मौत हुई है.

वैसे देखा जाए तो देश के अनेक राज्यों में मृत्यु दर उतनी चिंताजनक नहीं है. लेकिन फिर भी जिस तेजी से इस महामारी (Epidemic) का फैलाव हो रहा है उसे देखते हुए आशंका है कि अक्टूबर माह के अंत तक भारत में 1 करोड़ से अधिक कोरोना संक्रमित हो सकते हैं.

कोरोना को लेकर दुनियाभर में शोध चल रही है. सुकून की बात यह है कि जिन देशों में यह बीमारी बहुत तेजी से फैल रही थी वहां अब अपेक्षाकृत कम मरीज मिल रहे हैं. बहुत से देशों में कोरोना का प्रसार थम चुका है. दुनिया की सर्वाधिक जनसंख्या वाला देश चीन इस बीमारी से करीब-करीब मुक्त हो चुका है. अब देखना यह है कि इस भयानक बीमारी का वैक्सीन आम जनता तक कब और कैसे पहुंचता है.