Saturday , 6 March 2021

ईसाई धर्म प्रचारक पॉल दिनाकरन के ठिकानों पर आयकर के छापे, 118 करोड़ रुपये की अवैध संपत्ति का खुलासा


चेन्नई (Chennai) . आयकर विभाग को तमिलनाडु (Tamil Nadu) के ईसाई धर्म प्रचारक पॉल दिनाकरन के ठिकानों से 118 करोड़ रुपये की अवैध संपत्ति का खुलासा हुआ है. सूत्रों के मुताबिक दिनाकरन की संस्थाओं पर कर चोरी का आरोप है. इस सिलसिले में विभाग ने उनके 25 ठिकानों पर छापा मारा था जिसमें 118 करोड़ रुपये की अवैध संपत्ति का खुलासा हुआ है. चेन्नई (Chennai) और कोयंबटूर में दिनाकरन की संस्था जीजस कॉल मिनिस्ट्री से जुड़े 25 ठिकानों पर 20 जनवरी को छापा मारा था.

दिनाकरन इस क्रिश्चियन मिशनरी के प्रमुख है. इसका कामकाज कई दूसरे देशों में भी फैला है. दिनाकरन क्रूरियन यूनिवर्सिटी(डीम्ड) के चांसलर हैं.आयकर विभाग के सूत्रों ने बताया कि दिनाकरन के ठिकानों पर छापे की कार्रवाई शनिवार (Saturday) को खत्म हो गई. डिपार्टमेंट को कोयंबटूर में दिनाकरन के आवास से 4.7 किलो सोना (Gold) भी मिला है,जिस जब्त कर लिया गया है. साथ ही 118 करोड़ रुपये की अवैध संपत्ति का भी पता चला है. छापे के दौरान मिले दस्तावेजों के वेरिफिकेशन का काम चल रहा है.

दिनाकरन के ठिकानों पर छापेमारी की कार्रवाई 20 जनवरी को सुबह 6 बजे शुरू हुई थी. इसमें इनकम टैक्स विभाग के 200 से अधिक अधिकारी शामिल थे. अडयार में दिनाकरन के मुख्य ऑफिस से लेकर कोयंबटूर में उनके एजुकेशनल इंस्टीट्यूट तक छापा मारा गया था. माना जा रहा है कि विभाग के अधिकारी उनसे संगठन को मिले एफडीआई की भी जांच कर रहे हैं.

जीजस कॉल मिनिस्ट्री और क्रूरियन यूनिवर्सिटी की स्थापना पॉल दिनाकरन के पिता डीजीएस दिनाकरन ने की थी. उनका 2008 में निधन हो गया था जिसके बाद दोनों संस्थानों की कमान पॉल दिनाकरन के हाथ में आ गई थी. उनके परिवार का तमिलनाडु (Tamil Nadu) में खासा प्रभाव है और सभी सत्तारूढ़ दलों के साथ अच्छे रिश्ते रहे हैं. जब डीजीएस दिनाकरन का निधन हुआ था,तब तत्कालीन मुख्यमंत्री (Chief Minister) एम करुणानिधि और नेता प्रतिपक्ष जे जयललिता दोनों में शोक संवेदना व्यक्त की थी.

Please share this news