Sunday , 18 April 2021

पूजा में फूलों का महत्व

फूल हमारी श्रद्धा और भावना का प्रतीक हैं. इसके साथ ही ये हमारी मानसिक स्थितियों को भी बताते हैं. फूल बहुत ही शुभ और पवित्र होते हैं. इसलिए कोई भी पूजा बिना फूलों के पूरी नहीं होती है. फूलों के अलग-अलग रंग और सुगंध अलग तरह के प्रभाव पैदा करते हैं. पूजा में सही रंग के फूल सही तरीके से अर्पित किए जाएं तो जीवन की सभी समस्याओं को दूर किया जा सकता है.
धार्मिक मान्यताओं में फूलों का प्रयोग पूजा और उपासना के लिए किया जाता है. मान्यता है कि इससे ईश्वर की कृपा बहुत जल्दी होती है. आइए जानते हैं उपासना में फूल क्यों होते हैं इतने महत्वपूर्ण.
भगवान विष्णु को नियमित रूप से पीले गेंदे के फूलों की माला चढ़ाएं. इससे आपको संतान सम्बन्धी समस्याओं से मुक्ति मिलेगी.
लक्ष्मी जी को नियमित गुलाब अर्पित करने से आर्थिक स्थिति अच्छी हो जाती है.
गुलाब देने से रिश्ते मजबूत होते हैं. प्रेम और वैवाहिक जीवन सुखद हो जाता है.
किसी भी एकादशी को कृष्ण जी को दो कमल के फूल अर्पित करें.
आपकी संतान प्राप्ति की अभिलाषा पूरी होगी.
अगर 27 दिन तक रोज एक कमल का फूल लक्ष्मी जी को अर्पित किया जाए तो अखंड राज्य सुख की प्राप्ति होती है.
नियमित रूप से देवी को गुड़हल अर्पित करने से शत्रु और विरोधियों से राहत मिलती है.
सूर्य जो गुड़हल का फूल डालकर जल अर्पित करने से नाम यश मिलता है.
सफ़ेद फूल जल में डालकर चन्द्रमा को अर्पित करें.

Please share this news