Tuesday , 29 September 2020

जोर से बोलना भी कोरोना वायरस के प्रसार में मददगार हो सकता है: विधानसभा अध्यक्ष


नई दिल्ली (New Delhi) . हिमाचल प्रदेश (Himachal Pradesh) विधानसभा के अध्यक्ष विपिन सिंह परमार ने विधायकों से कोविड-19 (Covid-19) नियमों का कड़ाई से पालन करने की अपील करते हुए कहा कि जोर से बोलना भी संक्रमण के प्रसार में मददगार हो सकता है. सोमवार (Monday) को इंदोरा से भाजपा विधायक रीता देवी कोरोना (Corona virus) से संक्रमित पाई गई थीं.

महिला विधायक ने कहा कि वह सोमवार (Monday) शाम कोविड-19 (Covid-19) जांच से पहले विधानसभा की बैठक में शामिल हुयी थीं लेकिन विधानसभा परिसर में वह अन्य विधायकों से दूरी बनाकर थीं. विधानसभा सत्र के दूसरे दिन की शुरुआत में परमार ने कहा, ‘मानक संचालन प्रक्रिया के अनुसार जोर से बोलने से भी संक्रमण फैल सकता है. इसलिए संक्रमण को नियंत्रण में रखने के लिए सामान्य तरह से बोलें. इस पर विधायक जोर से हंस पड़े. वहीं विपक्ष के नेता की ओर से पेश किए गए स्थगन प्रस्ताव पर चर्चा के दौरान कई विधायक जोर से बोल रहे थे.

इस बीच दून से भाजपा विधायक परमजीत सिंह पम्मी का अध्यक्ष ने सदन में स्वागत किया. वह कोविड-19 (Covid-19) से स्वस्थ होने के बाद मंगलवार (Tuesday) को सत्र में हिस्सा लेने के लिए आए. वह 17 अगस्त को कोरोना (Corona virus) से संक्रमित पाए गए थे.वहीं स्वस्थ होने के बाद राज्य बिजली मंत्री सुखराम चौधरी भी सोमवार (Monday) और मंगलवार (Tuesday) को सत्र में हिस्सा लेने के लिए पहुंचे. वह छह अगस्त को कोरोना (Corona virus) से संक्रमित पाए गए थे और 23 अगस्त को वह स्वस्थ हो गए. अभी जल शक्ति मंत्री महेंद्र सिंह ठाकुर, रीता देवी और नालागढ़ से कांग्रेस के विधायक लखविंदर सिंह राणा कोरोना (Corona virus) से संक्रमित हैं.