Wednesday , 30 September 2020

महाराष्ट्र सरकार कोरोना मरीजों की संख्या कम दिखाना चाहती है इसलिए अधिक जांच नहीं कर रही : फडणवीस


मुंबई (Mumbai) . महाराष्ट्र (Maharashtra) विधानसभा में विपक्ष के नेता देवेंद्र फडणवीस ने आरोप लगाया कि सरकार (Government) मामलों को कम दिखाने की कोशिश कर रही है और अधिक से अधिक जांच करने पर तवज्जो नहीं दे रही है.

निचले सदन में अनुपूरक मांगों पर चर्चा के दौरान फडणवीस ने कहा कि चिकित्सा खर्चे का कोई ऑडिट नहीं हुआ है और महामारी (Epidemic) को लेकर कुप्रबंधन भी है. बीजेपी नेता ने कहा कि इस साल मार्च में जब महाराष्ट्र (Maharashtra) विधानमंडल का बजट सत्र समाप्त हुआ था तब राज्य में कोविड-19 (Covid-19) के रोगियों की संख्या 26 थी. उन्होंने कहा, ” आज (कोविड-19 (Covid-19) के मरीजों की संख्या) 9,07,212 है और 27,027 लोगों की मौत हो चुकी है. राज्य में 16,401 पुलिस (Police) कर्मी कोविड-19 (Covid-19) से संक्रमित हो चुके हैं और उनमें से 162 ने दम तोड़ दिया है.”

उन्होंने कहा, ” मुख्यमंत्री (Chief Minister) उद्धव ठाकरे सिर्फ मुंबई (Mumbai) की कोविड-19 (Covid-19) स्थिति को देखते हैं, जबकि उपमुख्यमंत्री (Chief Minister) अजित पवार पुणे में दिलचस्पी रखते हैं. क्या औरंगाबाद और नागपुर महाराष्ट्र (Maharashtra) में नहीं आते हैं? क्या आपने वहां की स्थिति की समीक्षा की और क्षेत्रों की जरूरतों को समझा? “फडणवीस ने दावा किया कि सरकार (Government) ने अब तक सभी फैसले केवल कागज पर ही लिए हैं जबकि जमीनी स्थिति अलग है.पूर्व मुख्यमंत्री (Chief Minister) ने कहा, “सरकार केवल कोविड-19 (Covid-19) की संख्या को कम दिखाना चाहती है और अधिक जांच करने पर ध्यान केंद्रित नहीं कर रही है. हम कोविड -19 से निपटने में सरकार (Government) के साथ सहयोग करने के लिए तैयार हैं, यह सरकार (Government) पर निर्भर है कि वह स्थिति की गंभीरता का एहसास करे. “