Friday , 16 April 2021

कोरोना वैक्सीन से नपुंसक होने की बात कितनी सही

नई दिल्‍ली . भारत में आधिकारिक संस्था DCGI की तरफ से दो वैक्सीन कोवाक्सिन और कोविशील्ड को आपातकालीन नियंत्रित इस्तेमाल की मंजूरी दी गई है. इसके साथ ही चर्चाओं को बाजार भी गर्म है. कुछ लोग कह रहे हैं कि कोरोना वैक्सीन लेने से नपुंसकता हो सकती है. इस बारे में आधिकारिक एजेंसी DCGI निदेशक वीजी सोमानी की राय जानते हैं.

covid-vaccine

प्रेस वार्ता में ये सवाल सोमानी के सामने पत्रकारों ने भी रखा तो वे पूरी तरह भड़क गए. उन्होंने साफ कहा कि ये अफवाह है और कोरोना (Corona virus) वैक्सीन को लेकर भ्रामक प्रचार की साजिश है. कोरोना वैक्सीन लेने से नपुंसकता नहीं हो सकती साथ ही स्वास्थ्य के नजरिए से वैक्सीन का कोई प्रतिकूल लंबे समय तक असर नहीं पड़ने वाला है.

सोमानी ने स्पष्ट किया कि वैक्सीन लेने के बाद सर्दी, जुकाम और मामूली बुखार की शिकायतें हो सकती है. जो चंद दिनों के बाद ठीक हो जाएगा. कोरोना वैक्सीन से लोगों की इम्युनिटी बढ़ेगी और हर्ड इम्युनिटी के जरिए हम कोरोना महामारी (Epidemic) को मात देने में सक्षम हो पाएंगे.

DCGI प्रमुख के मुताबिक कुछ लोग गलत इरादों से वैक्सीन के साइड इफेक्ट को लेकर बढ़ा चढ़ाकर बातें कर रहे हैं. लोगों को ये कहकर डराया जा रहा है कि वैक्सीन लेने के बाद नपुंसकता आ जाएगी. सोमानी ने इन बातों को सिरे से खारिज करते हुए इन्हें बकवास बताया. वीजी सोमानी ने लोगों से अपील की है कि वैक्सीन के प्रभाव को लेकर लोग सोशल मीडिया (Media) के भ्रामक प्रचार से दूर रहें.

DCGI प्रमुख वीजी सोमानी ने साफ कहा कि कोरोना वैक्सीन 110 फीसदी सुरक्षित है. सोमानी ने जिम्मेदारी के साथ कहा कि अगर वैक्सीन की सुरक्षा को लेकर जरा भी संदेह होता तो उसे अप्रूव किया ही नहीं जाता. लोगों को बताया जा रहा है कि वैक्सीन लेने के बाद मामूली शारीरिक परेशानियों से घबराने की जरूरत नहीं है.


News 2021

Please share this news