Monday , 8 March 2021

औद्योगिक निर्यात बढ़ाकर गुजरात को नई ऊंचाइयों पर ले जाना हैः मुख्यमंत्री

अहमदाबाद (Ahmedabad) . मुख्यमंत्री (Chief Minister) विजय रूपाणी ने कहा कि औद्योगिक निर्यात बढ़ाकर गुजरात (Gujarat) को नई ऊंचाइयों पर ले जाना है. उन्होंने कहा कि गुजरात (Gujarat) सरकार निर्यात को बढ़ाने पर ध्यान केंद्रित कर रही है. निर्यात बढ़ाने को अनुकूल माहौल और नीतियों में आवश्यक बदलाव कर सरकार व्यापारियों और निर्यातकों को पर्याप्त सहूलियत और सहायता मुहैया करा रही है. राजकोट (Rajkot) में गुजरात (Gujarat) चैंबर ऑफ कॉमर्स एंड इंडस्ट्री राजकोट (Rajkot) इकाई और फेडरेशन ऑफ सौराष्ट्र-कच्छ चैबर्स ऑफ कॉमर्स एंड इंडस्ट्री की ओर से आयोजित कार्यक्रम में चैंबर्स के प्रतिनिधियों, उद्योगपतियों और व्यापारी अग्रणियों के साथ संवाद में उन्होंने यह बात कही.

मुख्यमंत्री (Chief Minister) ने कहा कि व्यापारियों और महाजनों के सकारात्मक सुझावों और मुद्दों का निराकरण किया गया है और अभी भी कोई समस्या है तो उसके लिए सरकार का मन खुला है. जनता की किसी भी प्रकार की मांग न होने पर भी स्वयं चलकर जनहित के निर्णय लेकर लोगों की कठिनाइयों को दूर किया है. संवेदना, पारदर्शिता, निर्णायकता और प्रगतिशीलता के चार आधार स्तंभों पर हमारी सरकार ने जनहित के निर्णय लिए हैं. चैंबर ऑफ कॉमर्स के प्रस्तावों के संदर्भ में रूपाणी ने स्पष्ट रूप से कहा कि हम अपेक्षाओं से नहीं घबराते. वाजिब और जनहित में अपेक्षाओं और आकांक्षाओं को परिपूर्ण करेंगे. राजनीतिक द्वेषभाव में हमारा विश्वास नहीं है. हमारा एक ही मंत्र है और वह है गुजरात (Gujarat) का विकास.

उन्होंने कहा कि मेड इन गुजरात (Gujarat) के मार्फत मेड इन इंडिया की राह पर आगे बढ़ते हुए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी (Narendra Modi) (Prime Minister Narendra Modi) के नया भारत की संकल्पना को साकार करना है. आत्मनिर्भर भारत में गुजरात (Gujarat) को अग्रणी बनाना है. गुजरात (Gujarat) के औद्योगिक विकास को बढ़ावा देने के लिए लिए गए निर्णयों के चलते हासिल हुई उपलब्धियों के संदर्भ में उन्होंने कहा कि गुजरात (Gujarat) देश में सबसे ज्यादा रोजगार देने वाला राज्य है. लॉकडाउन (Lockdown) के दौरान श्रमजीवियों की सर्वाधिक ट्रेनंह गुजरात (Gujarat) से रवाना हुई थी. यह बताता है कि गुजरात (Gujarat) रोजगार देने वाला राज्य है. देश के कुल निर्यात का 23 फीसदी निर्यात गुजरात (Gujarat) अकेला करता है और प्रत्यक्ष विदेशी निवेश (एफडीआई) के मामले में 53 फीसदी हिस्सेदारी के साथ गुजरात (Gujarat) शीर्ष पर है.

उन्होंने कहा कि यह सारी अहम उपलब्धियां हैं, लेकिन विकास के मामले में हमें अभी और लंबा सफर तय करना है, आगे बढ़ना है. मुख्यमंत्री (Chief Minister) ने आगे कहा कि पिछले 25 सालों से गुजरात (Gujarat) के किसानों की बिजली की दरों में एक पैसे की भी बढ़ोतरी नहीं की गई है. 25 वर्ष पहले प्रति यूनिट की दर जो 60 पैसे थी, वही आज भी कायम है. गुजरात (Gujarat) के उद्योगकारों और व्यापारियों की उत्पादन लागत कम करने के लिए सोलर पॉलिसी बहुत उपयोगी साबित हो सकती है. इस मौके पर उन्होंने सोलर पॉलिसी का अधिकाधिक लाभ उठाने और गुजरात (Gujarat) को नवीकरणीय ऊर्जा उत्पादन के क्षेत्र में अग्रणी बनाने का अह्वान किया. रूपाणी ने कहा कि गुजरात (Gujarat) के औद्योगिक क्षेत्र के सुझावों और मांगों को लेकर हर दो महीने में समीक्षा होगी तथा इंडस्ट्रीज के सदस्यों को भी कमेटी में शामिल किया जाएगा. उन्होंने कहा कि वे स्वयं भी वर्ष में तीन बार समीक्षा करेंगे.

Please share this news