Saturday , 28 November 2020

सरकार निरोगी राजस्थान की परिकल्पना साकार करने में लगी है : गहलोत


जयपुर (jaipur) . मुख्यमंत्री (Chief Minister) अशोक गहलोत (Ashok Gehlot) ने आज केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ हर्षवर्धन, केन्द्रीय राज्यमंत्री अश्विनी कुमार चौबे के साथ राज्य की राजधानी जयपुर (jaipur) से वीडियो कॉन्फ्रेसिंग से जुड़े राज्य में मेडिकल कॉलेज भीलवाड़ा, भरतपुर, कोटा, बीकानेर उदयपुर (Udaipur) में सुपर स्पलेशिट ब्लॉक का लोकार्पण किया जिसकी लागत करीब 828 करोड़ आयेगी जिसका लाभ प्रदेश की सात करोड़ जनता को मिलेगा.

इस अवसर पर मुख्यमंत्री (Chief Minister) ने वीडियो कॉन्फ्रेसिंग के जरिए केन्द्रीय मंत्री डॉ. हर्षवर्धन को कहा कि राजस्थान (Rajasthan) में मेरी पिछली सरकार (Government) में ही निरोगी राजस्थान (Rajasthan) की परिकल्पना की आधारशिला रखी गई थी और उस पर निशुल्क दवा का वितरण शुरू किया गया था इस बार भी निरोगी राजस्थान (Rajasthan) की परिकल्पना को साकार करने के लिए बडे बडे रोगों के टेस्टों को भी फ्री किया गया है और पिछली दवाओं के साथ और फ्री दवाओं की संख्या बढ़ाई गई है.

मुख्यमंत्री (Chief Minister) ने कहा कि राजस्थान (Rajasthan) के 33 जिलो में सरकार (Government) योजनाबद्ध तरीके से चिकित्सा सुविधाओं का विस्तार कर रही है उन्होने कहा कि प्रत्येक विधानसभा क्षेत्र में सीएचसी मॉडल बने जिसमें एमएलए फंड से भी सुविधायें मुहैया करवाई जा रही है उन्होने कहा कि राजस्थान (Rajasthan) बड़ा भूभाग का प्रदेश है इसलिए मुकम्मल व्यवस्थाओं को करने में केन्द्र सरकार (Government) राज्य की पूरी मदद करें. उन्होने कहा कि पानी बिजली, स्वास्थ्य सेवाओं में प्रदेश का एस्ट्रा धन, व्यय होता है इसे माननीय मंत्री महोदय ध्यान में रखे मुख्यमंत्री (Chief Minister) ने कहा कि कोरोना काल में भी जिस तरह राज्य सरकार (Government) ने भीलवाडा मॉडल पेश किया उसी तरह सरकार (Government) चाहती है कि 33 जिलो में लैब स्थापित हो और कोरोना की टेस्टिंग भी बढ़ाई गई है इस दौरान मुख्यमंत्री (Chief Minister) ने पीपीई किट का भी केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्री के सामने जिक्र करते हुए कहा कि राजस्थान (Rajasthan) वो राज्य है जिसने चाईना से आयात की गई पीपीई कीटों की खामियां सबसे पहले आगे आकर बताई थी.

उन्होने स्वास्थ्य मंत्री से प्रदेश में अभी तक किए जा रहे कोरोना प्रबंधन के इंतजामों को संतोषजनक बताया और स्वास्थ्य सेवाओं में और विस्तार करने का भी जिक्र किया. प्रदेश से वीडियो कॉन्फ्रेसिंग में डॉ बीडी कल्ला, स्वास्थ्य मंत्री डा रघु शर्मा, राज्यमंत्री सुभाष गर्ग, भंजनलाल जाटव, मुख्यसचिव राजीव स्वरूप, अखिल अरोड़ा कुलदीप रांका व अन्य कई आला अफसर मौजूद रहे.