Thursday , 24 June 2021

GBH जनरल में मल्टी आर्गन फेल्योर गंभीर कोरोना रोगी का हुआ सफल उपचार

उदयपुर (Udaipur). अस्थमा, डायबिटिज और ह्दय संबंधित बीमारी के साथ ही गंभीर कोरोना संक्रमित होने से बेडवास स्थित जीबीएच जनरल हॉस्पीटल में भर्ती हुई महिला को 26 दिन उपचार के बाद स्वस्थ करके घर भेजा गया. डॉक्टर (doctor) ने दावा किया है कि इस तरह के मामले पूरे जिले में चुनिंदा ही रहे होंगे.

ग्रुप डायरेक्टर डॉ. आनंद झा ने बताया कि 65 वर्षीय महिला को नाथद्वारा से परिजन पिछले दिनों बेडवास स्थित जीबीएच जनरल हॉस्पीटल में लेकर पहुंचे थे. जिस समय महिला को यहां परिजन लेकर पहुंचे थे, उस समय उन्हें श्वास लेने में काफी तकलीफ थी. महिला काफी वजन की होने के साथ ही उनकी पूर्व की जानकारी लेने पर पता चला कि वह अस्थमा से पीड़ित है. इसके अलावा उन्हें शरीर में सोडियम की कमी भी है और वह पूर्व में ह्दय रोगी भी रह चुकी है. इसके अलावा वह मधुमेह, ब्लड प्रेशर की भी मरीज है. उसका असर दोनों गुर्दे पर भी हो रहा था. इसे चिकित्सकीय भाषा में मल्टी आर्गन फेल्योर कहा जाता है. ऐसी स्थिति में वह कोरोना पॉजीटिव पाई गई है, जिसमें उन्हें श्वास लेने में तकलीफ है और एचआरसीटी का स्कोर भी 14 आ रहा था.

यहां जीबीएच जनरल हॉस्पीटल में इंटेशिविस्ट डॉ. पीयूष गर्ग के नेतृत्व में आईसीयू टीम ने कोविड प्रोटोकॉल की पालना करते हुए महिला का उपचार शुरू किया और जरूरत होने पर न्यूरोलॉजिस्ट डॉ. निशांत अश्वनी का भी इलाज देते हुए वेंटीलेटर पर उपचार किया. महिला का हर कदम पर व्यवस्थित उपचार करते हुए सोडियम लेवल मेंटेन किया गया और उन्हें 18वें दिन वेंटीलेटर से पूरी तरह हटा दिया गया और श्वसन प्रक्रिया ठीक होने पर 20वें दिन डिस्चार्ज कर दिया गया.

Please share this news