Friday , 25 September 2020

अमेरिका में आयोजित हिन्दी महोत्सव में उदयपुर में मिला गौरव

उदयपुर (Udaipur). हिंदी क्लब ऑफ इलिनाय शिकागो अमेरिका के अनिवासी भारतीय सदस्यों द्वारा हिंदी महोत्सव हर्षोल्लास के साथ मनाया गया. यह कार्यक्रम उदयपुर (Udaipur) के लिए गौरवमयी क्षण रहा चूंकि इस कार्यक्रम का प्रभावी संचालन उदयपुर (Udaipur) की डॉ निशा पंड्या ने किया. डॉ. पंड्या ने अपने प्रभावी संचालन में छंद अलंकार का उपयुक्त प्रयोग करते हुए सभी को मंत्रमुग्ध कर दिया.

साहित्यकार पंडित भगवती शंकर भट्ट ने बताया कि इस कार्यक्रम का संचालन डॉ निशा पंड्या द्वारा किया गया. जिसकी भाषा, शब्द संचयन एवं समन्वयन अत्यंत सुंदरतम एवं भावपूर्ण रहा. एक प्रतिभागी से दूसरे प्रतिभागी के बीच की कड़ी को अत्यंत बुद्धिमानी एवं अपनी सहज वाक् चातुर्य से संयोजित कर श्रोतागणों का मनमोह लिया. इतना ही नहीं उनके कवियित्री होने का सफलतम प्रमाण उनके द्वारा बीच-बीच में बोले गए छंद  कविताएं तथा उद्धरणों के अनूठे अंदाज ने यह दर्शा दिया कि वे एक सफलतम संचालिका है जैसा कि उन्होंने अपने इस अल्पवय में ही आकाशवाणी दूरदर्शन एवं ऐसे ही विभिन्न अनेक आयोजनों का संचालन कर अनेक उपलब्धियां प्राप्त की है. संचालन के मध्य डॉ निशा ने प्रत्येक प्रतिभागी की प्रशंसा की किसी को निराश नहीं किया. यहां तक कि निर्णायको की भी भूरी भूरी प्रशंसा करते हुए उनकी निष्पक्षता  को सहज शब्दावली में अभिव्यक्त किया.

अनेक विद्वानों द्वारा हिंदी भाषा के उद्गम विकास एवं साहित्यिक तथा ऐतिहासिक तथ्यों को व्यक्त करते हुए हिंदी भाषा की उपादेयता को अपने वक्तव्य में व्यक्त किया गया एवं यह भी निर्देशित किया गया कि जो अनिवासी भारतीय अमेरिका में रहते हैं जिनकी संतान भी अमेरिका में उत्पन्न हुई हो को अपनी भाषा हिंदी का ही प्रयोग किया जाना चाहिए, साथ ही बच्चों को भी अपने देश की गौरवपूर्ण भाषा हिंदी का पूरा ज्ञान प्रदान करना चाहिए तथा घर पर व्यवहार में भी सदा हिंदी का ही प्रयोग किया जाना उचित होगा ताकि भाषा की निरंतर उन्नति प्रगति अमेरिका में रहकर भी की जा सके एवं हम हिंदुस्तानी होने के गौरव से गौरवान्वित हो सके.