Friday , 14 May 2021

राम मंदिर निर्माण के लिए जयपुर के पोद्दार परिवार ने ‘निधि समर्पण कार्यक्रम’ में भेंट की 1 करोड़ 1 लाख रुपए की राशि


जयपुर (jaipur) . अयोध्या (Ayodhya) में बनने जा रहे भगवान श्रीराम के मंदिर के लिए राजस्थान (Rajasthan)में आज राजधानी जयपुर (jaipur)से ‘निधि समर्पण कार्यक्रम’ की शुरुआत की गई. विश्व हिंदू परिषद और राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (Rashtriya Swayamsevak Sangh) की विशेष टोलियां घर घर गईं और राम भक्तों से सहयोग राशि एकत्र की. जयपुर (jaipur)में पहले दिन सबसे बड़ी सहयोग राशि के रूप में एसके पोद्दार परिवार ने एक करोड़ एक लाख रुपये भेंट किये. एसके पोद्दार ने कहा कि वे राम के अनन्य भक्त हैं. उनका बस चले तो वे अपना सब कुछ राम को समर्पित कर दें.

इस मौके पर इस अभियान की अगुवाई कर रहे राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (Rashtriya Swayamsevak Sangh) के जयपुर (jaipur)प्रांत के प्रचारक डॉक्टर (doctor) शैलेंद्र ने कहा कि उनका मकसद हर व्यक्ति को इस मंदिर निर्माण से जोड़ना है ना कि सिर्फ सहयोग राशि एकत्र करना. उन्होंने कहा कि कुछ लोग तो सहयोग राशि डिजिटली भी दे रहे हैं. लेकिन घर घर जाने से लोगों का मंदिर निर्माण में जुड़ाव होगा. इसी वजह से 10 रुपये के कूपन भी निकाले गए हैं. इससे जो लोग डिजिटल पेमेंट नहीं कर पा रहे हैं वे कूपन के जरिये भी दान कर सकते हैं. यह अभियान 14 फरवरी तक चलेगा.

उन्होंने बताया कि कोरोना महामारी (Epidemic) को देखते हुये अभियान के पहले चरण की शुरुआत चुनिंदा स्थानों पर ही की जा रही है. 14 फरवरी तक यह महा अभियान चलेगा. इसमें टोलियां हर उस व्यक्ति तक पहुंचने की कोशिश करेगी जो राम में आस्था रखता है और मंदिर निर्माण में सहयोग करना चाहता है. हालांकि मंदिर निर्माण के इस अभियान को लेकर विपक्ष सवाल भी उठा रहा है.

राजस्थान (Rajasthan)के परिवहन मंत्री प्रताप सिंह खाचरियावास ने सवाल उठाया कि घर-घर जाकर चंदा इकट्ठा करने की जरूरत कहां है. पहले तो वीएचपी और बीजेपी उस चंदे का हिसाब दे जो मंदिर निर्माण के लिए पहले इकट्ठा किया गया था. जयपुर (jaipur)में इस अभियान से जुड़े विश्व हिंदू परिषद के संगठन मंत्री राजाराम ने कहा कि उनका मकसद तो सवाल उठाने वालों को भी मंदिर निर्माण से जोड़ना है. चाहे तो वे भी मंदिर निर्माण के लिए सहयोग राशि दे सकते हैं.

Please share this news