Friday , 25 June 2021

कोरोना गाइडलाइन का सख्ती से पालन करें, तभी लगेगा कोरोना की दूसरी लहर पर अंकुश : डॉ पाल


नई दिल्ली (New Delhi) . देश में कोरोना संक्रमण के मामलों में लगातार बढ़ोतरी हो रही है. शनिवार (Saturday) को देश में करीब 40 हजार नए मामले आए और 150 से ज्यादा लोगों की मौत हुई. नीति आयोग में स्वास्थ्य मामलों के सदस्य डॉक्टर (doctor) वीके पॉल ने कहा है कि हाल के दिनों में कोरोना के मामले कम होते देखकर लोग लापरवाह हो गए और उन्होंने सावधानी बरतना बंद कर दिया था. इसी वजह से कोरोना संक्रमण में तेजी देखी जा रही है.

तीज-त्यौहार और शादी-विवाह के चलते भी कोरोना संक्रमण में वृद्धि हुई. नीति आयोग में स्वास्थ्य मामलों के सदस्य डॉक्टर (doctor) वीके पॉल ने कहा कि सामान्य जीवन में लोगों ने लापरवाही शुरू कर दी है. उन्होंने कहा कि हमें यह समझना होगा कि अभी भी एक बड़ा वर्ग है, जिस पर संक्रमण का खतरा मंडरा रहा है. खास तौर से गांवो में, हम इस स्तर पर अपनी सुरक्षा को कमजोर नहीं कर सकते हैं. उन्होंने कहा कि हमें सामूहिक समारोहों से बचना चाहिए. डॉ पॉल ने कहा कि हाई पॉजिटिविटी रेट वाले जिलों में आरटी-पीसीआर जांच बढ़ानी जरूरी है.

कुछ विशेषज्ञों ने कहा है कि देश दूसरी कोविड लहर के बीच है और यह आने वाले हफ्तों में और भी अधिक मामले आ सकते हैं. नेशनल कोविड-19 (Covid-19) टास्क फोर्स के ऑपरेशंस रिसर्च ग्रुप के प्रमुख डॉ एनके अरोड़ा ने बताया कि हम कोविड की दूसरी लहर के बीच में हैं. अगर खास कदम नहीं उठाए गए तो अगले 6-8 हफ्तों में 1,00,000 नए मामले आ सकते हैं.

पंजाब (Punjab) के अधिकारियों ने कहा कि उन्हें कम से कम 30 सुपर-स्प्रेडर मामले मिले हैं, जहां एक ही घटना से 10 से अधिक कोरोना संक्रमण के केस पाए गए. एक नोडल अधिकारी ने कथित तौर पर कहा ‘लगभग 75-80 प्रतिशत मामलों में, रोगियों में लक्षण नहीं हैं या हल्के लक्षण हैं.

Please share this news