Wednesday , 23 June 2021

बाढ़ एनटीपीसी में हुआ बिजली का रिकॉर्ड उत्पादन, तोड़ा 38 साल पुराना रिकॉर्ड

पटना (Patna) . एनटीपीसी बाढ़ परियोजना ने नया रिकॉर्ड बनाते हुए 19 मार्च को रिकॉर्ड 100.16 फीसदी पीएलएफ़ के साथ 31.73 मिलियन यूनिट बिजली का उत्पादन किया गया. इससे पूर्व, 18 मार्च को भी 31.53 मिलियन यूनिट उत्पादन के साथ परियोजना ने रिकॉर्ड उत्पादन किया था.

एनटीपीसी समूह के सकल उत्पादन के आंकड़े देखें तो 18 और 19 मार्च को कंपनी ने लगातार 1182.65 और 1192.19 मिलयन यूनिट बिजली का उत्पादन कर अपने संचालन के 38 वर्ष के सभी रिकॉर्ड तोड़ दिए. एनटीपीसी देश की सबसे बड़ी बिजली उत्पादन कंपनी है और भारत की करीब एक चौथाई विद्युत मांग को पूरा कर रही है.

बाढ़ परियोजना, एनटीपीसी की एक महत्वाकांक्षी परियोजना है जिसमें इस समय 660 मेगावॉट की दो इकाइयां संचालित हैं, जिनसे बिहार (Bihar) व अन्य राज्यों तक निर्बाध रूप से बिजली पहुंचाई जा रही है. सभी इकाइयों के वाणिज्यिकरण के बाद परियोजना की कुल स्थापित क्षमता 3300 मेगावॉट हो जाएगी. परियोजना के कार्यकारी निदेशक प्रेम प्रकाश बताते हैं कि तीसरी यूनिट का ग्रिड सिंक्रोनाइजेशन भी हासिल कर लिया गया है और इससे जल्द ही देश को 660 मेगावॉट बिजली की सौगात मिलने वाली है. इस बड़ी उपलब्धि पर बाढ़ एनटीपीसी के अधिकारी से ले कर पूरी टीम में भरी उत्साह है. बाढ़ पहुंचे जेडीयू के सांसद (Member of parliament) ललन सिंह ने एनटीपीसी की इस उपलब्धि पर खुशी जताई है. सांसद (Member of parliament) ने कहा कि जब नीतीश कुमार बाढ़ से सांसद (Member of parliament) थे, तभी एनटीपीसी बाढ़ मे आया, जिसका रिजल्ट सब के सामने है. ललन ने एनटीपीसी के अधिकारियों से अपील की है कि वो भय मुक्त वातावरण में काम करते रहें.

Please share this news