Friday , 14 May 2021

हॉलीवुड की तर्ज पर बनेगी उत्तर प्रदेश की फिल्म सिटी

नई दिल्ली (New Delhi) . उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) में बनने जा रही फिल्म सिटी कुछ-कुछ हालीवुड की तर्ज पर बनेगी. यहां बनने वाले डिजिटल स्टूडियो हों या वीएफएक्स स्टूडियों या फिर फिल्म अकादमी. अमेरिका की रियल इस्टेट कंपनी सीबीआरआई एशिया इस बाबत दुनिया भर के फिल्म स्टूडियों व थीम पार्क का अध्ययन कर रही है. इसमें हॉलीवुड भी शामिल है. सीबीआरआई कंपनी ने बतौर सलाहकार यमुना एक्सप्रेसवे औद्योगिक विकास प्राधिकरण को विचार पत्र दिया है. उसके मुताबिक पहले चरण में 12 क्षेत्रों पर खास फोकस किया जाएगा. इसमें स्टेट आफ आर्ट स्टूडियो, आउटडोर सेट, शूटिंग गांव शामिल हैं. पोस्ट प्रोडक्शन के क्षेत्र में वीएफएक्स स्टूडियो बनाए जाएंगे.

एडटिंग स्टूडियो होंगे. म्यूजिक डबिंग स्टूडियो भी विश्वस्तरीय होंगे. फिल्म प्रीमियर व फिल्म फेस्टीवल के लिए विशेष आयोजन स्थल होंगे. फिल्म अकादमी अलग से बनेगी. इसके अलावा पंचतारा होटल, डारमेट्री, रिटेल शाप, रेस्तरां, मनोरंजन पार्क भी बनेंगे. यही नहीं फिल्म निर्माण से जुड़ी वस्तुओं व उसका इतिहास संजोता म्यूजियम भी बनेगा. सलाहकार कंपनी का अथारिटी के साथ एमओयू हो चुका है. वह अगले महीने अपनी विस्तृत कार्य योजना संबंधी रिपोर्ट देगा. इसमें फंड कैसे एकत्र किया जाए से लेकर इसे किस मॉडल पर बनाया जाए जैसे मुद्दों पर अपनी सलाह देगा.

अभी यह तय होना है कि सरकार इसके निर्माण का खर्च उठाएगी या फिर पीपीपी मॉडल पर इसे विकसित किया जाए. इंटरनेशनल कंसलटेंट कंपनी मुंबई (Mumbai) , हैदराबाद, चैन्नई (Chennai) व विदेशों के फिल्म स्टूडियो संचालकों से इस संबंध में बात कर रही है. फिल्म सिटी को लेकर दुनिया भर में चल रही बेस्ट प्रैक्टिसेस के बारे में बताया जाएगा. कंसलटेंट कंपनी विभिन्न स्टेट होल्डर हॉलीवुड, वॉलीवुड,टॉलीवुड समेत दुनिया भर की फिल्म सिटी में फिल्म स्टूडियो व विभिन्न प्रोडक्शन हाउस से बातकर रही है. वहां को सबसे बेहतरीन यहां की फिल्म सिटी में लाया जाएगा. शासन तय करेगा कि निर्माण के लिए कौन सा माडल उपयुक्त रहेगा. लेकिन यह फिल्म सिटी विश्वस्तरीय बनेगी. इसमें कोई समझौता नहीं होगा. यह फिल्म सिटी अथारिटी के 1000 एकड़ जमीन पर बनेगी.

Please share this news