Wednesday , 16 June 2021

दिल्ली में बाहरी राज्यों से आने वाले अवैध हथियारों से बदमाश फैला रहे खौफ

नई दिल्ली (New Delhi) . बाहरी राज्यों से आने वाले अवैध हथियारों से दिल्ली में बदमाश खौफ फैला रहे हैं. अवैध हथियारों के बल पर बदमाश ताबड़तोड़ वारदात को अंजाम दे रहे हैं. इस महीने बीते 15 दिनों में बदमाशों ने 20 से अधिक जगहों पर गोलियां चलाई हैं. इसमें से कुछ वारदात में जान भी चली गई, जबकि कुछ मामलों में पीड़ित अस्पताल में जिंदगी और मौत के बीच जूझ रहे हैं. पुलिस (Police) ने अधिकांश मामलों में आरोपियों को गिरफ्तार कर अवैध हथियार बरामद की है. हालांकि कुछ आरोपी अब भी फरार है.

पुलिस (Police) के अनुसार, उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश, झारखंड और बिहार (Bihar) के 15 शहरों से दिल्ली में अवैध हथियारों की सप्लाई होती है. बदमाश सड़क और ट्रेन के माध्यम से अवैध हथियारों को दिल्ली तक पहुंचाते हैं. इसके बाद अपने गिरोह के सदस्यों को सौंप देते हैं, जहां से सस्ते दामों में बदमाशों को इसे बेचा जाता है. कुछ बदमाशों की तरफ से डिमांड पर भी हथियार मंगवाए जाते हैं. पुलिस (Police) रोजाना करीब सात अवैध हथियारों को अलग-अलग जगहों से बरामद करती है. इसके बावजूद राजधानी में अवैध हथियारों के सप्लाई करने का सिलसिला रुक नही रहा है.

पुलिस (Police) सूत्रों के अनुसार, राजधानी में वारदात के लिए बदमाश किराए के हथियारों का प्रयोग भी करते हैं. वारदात करने के लिए बड़े गिरोह के बदमाशों से किराए पर हथियार लेकर आते हैं और वारदात के बाद वापस कर देते हैं. जानलेवा हमला करने के लिए ऑटोमेटिक हथियारों का प्रयोग करते हैं. वहीं लूटपाट में अधिकांश देसी पिस्टल का प्रयोग किया जाता है. राजधानी में जितेंद्र गोगी, संदीप, समुंदर खत्री उर्फ सरेंद्र, कुलदीप मान उर्फ फज्जा, अशोक प्रधान, हाशिम बाबा, नासिर, छेनू, विजय पहलवान, समीर उर्फ छोटू समेत कई कुख्यात बदमाशों का गिरोह सक्रिय है. इसके गुर्गे अलग-अलग इलाकों में फैले हैं. ये मामूली बातों पर गोलियां बरसाने से बाज नहीं आते. इलाके के हिसाब से कुछ छोटे गिरोह भी हैं, जो वारदात को अंजाम देते हैं.

Please share this news