Monday , 1 March 2021

मातृ-शिशु अस्पताल में शुरू हुई मोतियाबिंद ऑपरेशन की सुविधा

बिलासपुर (Bilaspur) . मातृ-शिशु अस्पताल में मोतियाबिंद का आपरेशन शुरू कर दिया गया है, लेकिन इसके लिए पहले कोविड टेस्ट कराना जरूरी है. टेस्ट की रिपोर्ट जमा करने के बाद ही मोतियाबिंद का आपरेशन किया जाएगा. कोरोना महामारी (Epidemic) की शुरूआत होते ही मार्च से जिले में मोतियाबिंद आपरेशन बंद कर दिया गया था.जिसकी वजह से जिले में करीब 15 हजार लोगों की आंखों का आपरेशन नहीं हो पाया था और निजी अस्पतालों में हेल्थ कार्ड नहीं चलने के कारण लोगों को परेशानियों का सामना करना पड़ रहा था. इसके चलते जिले के करीब 15 हजार लोगों की आंखों का आपरेशन नहीं हुआ हैं. इन मरीजों की आंखों का जल्द से जल्द ऑपरेशन जरूरी है. वर्ष 2019 के दौरान 19394 लोगों की आंखों का ऑपरेशन हुआ था. वहीं इस वर्ष 2020 में मात्र 4094 लोगों को ही रोशनी मिल पाई थी. इसे देखते हुए शासन ने प्रदेश के सभी जिला अस्पतालों को 1 सप्ताह में ऑपरेशन शुरू करने का आदेश दिया गया है और कोविड हॉस्पिटल से सभी मशीनों को बाहर निकाल मातृ शिशु अस्पताल में मोतियाबिंद आपरेशन शुरू कर दिया गया है.

कोविड 19 वायरस की रफ्तार में थोड़ी लगाम लगने के बावजूद लोग सरकारी अस्पतालों में जाने से डर रहे है. खासकर बगल में कोविड हॉस्पिटल होने के कारण मातृ-शिशु अस्पताल आने वाले मरीजों की संख्या में कमी आई है. यही कारण है कि मोतियाबिंद आपरेशन कराने नाम मात्र मरीज पहुंच रहे है.

 

Please share this news