Saturday , 26 September 2020

बेवीनार में मादा पशुओं में कृत्रिम गर्भाधान के बारे में बताया


उदयपुर (Udaipur). राजकीय पशुपालन प्रशिक्षण संस्थान की ओर से गुरुवार (Thursday) को वेबीनार आयोजित हुआ. इसमें संस्थान के प्रथम वर्ष के विद्यार्थियों को संबोधित करते हुए डॉ. सुरेन्द्र छंगाणी ने कहा कि मादा पशुओ में हीट के लक्षणो की पहचान समय पर कर उन्हैं उन्नत नस्ल के सांडो के वीर्य से कृत्रिम गर्भाधान कर पशुपालको को आर्थिक लाभ पहुंचाया जा सकता है.

उन्होंने बताया कि समय पर गर्भाधान करवाने पर मादा पशुओ में गर्भवती होने की संभावनाएं बढ़ जाती है. संस्थान के डॉ. सुरेश शर्मा ने कहा कि अधिक दुग्ध उत्पादन प्राप्त करने के लिए पशुओ में पशुओ का उचित प्रबंधन कर उन्हैं संतुलित, पौष्टिक सुपाच्य आहार खिलाना चाहिए एवं समय पर पेट और आंतो के कीड़े मारने की दवा के साथ साथ समय पर सभी पशुओ में आवश्यक रूप से टीकाकरण करवाना चाहिए.