Friday , 25 June 2021

कर्मचारियों को नहीं मिला 63 महीने का एरियर

भोपाल (Bhopal) . भोपाल (Bhopal) सहकारी दुग्ध संघ के कर्मचारियों को छठवें वेतनमान का एरियर भुगतान नहीं किए जाने की ‎शिकायत प्रधानमंत्री कार्यालय (पीएमओ) को पत्र ‎‎लिखकर की थी, जिस पर पीएमओ की तरफ से मुख्य सचिव को भेजे पत्र में समुचित कार्रवाई करने के निर्देश दिए गए हैं. मामला भोपाल (Bhopal) सहकारी दुग्ध संघ के कर्मचारियों को छठवें वेतनमान का एरियर भुगतान नहीं किए जाने से जुड़ा है.

दुग्‍ध संघ के सेवानिवृत्त कर्मचारी गंगाधर जवाहर ने प्रधानमंत्री कार्यालय को पत्र लिखकर इस बारे में पीड़ा व्यक्त की थी. प्राप्त जानकारी के अनुसार, भोपाल (Bhopal) सहकारी दुग्ध संघ ने छठवें वेतनमान का लाभ 63 महीने की देरी से दिया. पीएमओ को लिखे पत्र में अयोध्या (Ayodhya) नगर क्षेत्र में रहने वाले गंगाधर जवाहर ने बताया कि छठवें वेतनमान का लाभ 1 जनवरी 2006 से देना था, जबकि दुग्‍ध संघ ने 31 मार्च 2011 को दिया था. इस तरह 63 महीने की राशि का भुगतान अब तक नहीं किया है. सभी कर्मचारियों के साथ ऐसा ही किया गया.

भोपाल (Bhopal) सहकारी दुग्ध संघ में 2006 से 2011 तक की स्थिति में 400 से अधिक कर्मचारी थे. इनमें से कुछ सेवानिवृत्त हो गए हैं. प्रत्येक कर्मचारी को छठवें वेतनमान के 63 महीने के एरियर के रूप में चार से सात लाख रुपये की राशि मिल सकती है. बता दें कि संघ ने सातवें वेतनमान का लाभ भी कर्मचारियों को देरी से दिया था, लेकिन सातवें वेतनमान के एरियर की राशि दे दी है. छठवें वेतनमान के एरियर को जारी नहीं किया है. इसमें भोपाल (Bhopal) दुग्ध संघ और सहकारिता विभाग के अधिकारियों की कमजोरी बताई गई है. विशेषज्ञों का कहना है कि नियमानुसार संघ को पहले छठवें वेतनमान के एरियर का निराकरण करना था, उसके बाद सातवें वेतनमान के एरियर की राशि देनी थी, जो कि नहीं किया गया.

 

Please share this news