Monday , 28 September 2020

ब्रजेश ठाकुर के वृद्धाश्रम में ईडी ने चिपकाया नोटिस


नई दिल्ली (New Delhi) . प्रर्वतन निदेशालय ईडी ने बालिका गृहकांड में ताउम्र की सजा काट रहे ब्रजेश ठाकुर पर शिकंजा कसना शुरू कर दिया है. मुजफ्फरपुर व समस्तीपुर में पहले से अटैच की गई संपत्ति को जब्त करने की प्रक्रिया तेज कर दी है. सोमवार (Monday) को समस्तीपुर के अमीरगंज स्थित मनोरमा लेन आवास पर ईडी ने सोमवार (Monday) को प्रोविजनल अटैचमेंट का नोटिस चिपकाया है. नोटिस में आदर्श महिला शिल्प कला केंद्र को कार्यालय बताया गया है.

यहां ब्रजेश ठाकुर से संबंधित कोई व्यक्ति नहीं रहता है. बीते साल मुजफ्फरपुर के कुढ़नी, बोचहां, मुशहरी व सकरा और समस्तीपुर की संपति को अटैच करने को नोटिस चिपकाया था. अब मनी लॉड्रिंग का केस भी दर्ज हो चुका है. माना जा रहा है कि ईडी बहुत जल्द अटैच संपत्ति को जब्त कर सकती है. मंगलवार (Tuesday) को मुजफ्फरपुर में भी ईडी की कार्रवाई हो सकती है. ईडी के अधिकारी जब नोटिस चिपकाने समस्तीपुर पहुंचे तो वहां किरायेदार को पाया. ईडी के अधिकारियों ने कहा है कि प्रवर्तन निदेशालय दिल्ली से प्रोविजनल अटैचमेंट ऑर्डर का निर्देश मिला है. नोटिस पर प्रिवेंशन ऑफ मनी लॉड्रिंग एक्ट के प्रावधानों के तहत संपत्ति को अटैचमेंट से संबंधित निर्देश है. एक वर्ष पूर्व भी ईडी ने मनोरमा लेन में इसी भवन पर संपत्ति अटैचमेंट का नोटिस चिपकाया था. बालिका गृह कांड में मनी लांड्रिंग के तहत ब्रजेश ठाकुर पर चार्जशीट दाखिल की गई है.

ताउम्र की सजा काट रहे ब्रजेश पर 32 लाख रुपए का जुर्माना भी लगाया गया है. CBIका कहना है कि जुर्माना की यह राशि उन किशोरियों के सशक्तीकरण पर खर्च किया जाना है जो दुष्कर्म, यौन शोषण और प्रताड़ना को लेकर सजा दी गई है. आर्थिक अपराध इकाई के प्रस्ताव पर प्रवर्तन निदेशालय ने बालिका गृह कांड में ताउम्र की सजा काट रहे ब्रजेश ठाकुर की करीब 2.65 करोड़ रुपये की चल व अचल संपत्ति को अटैच किया था. इसमें मुशहरी, बोचहां, कुढ़नी व पैतृक प्रखंड सकरा में 12 प्लाट, होटल (Hotel) व मकान को जब्त किया था. ईडी की टीम लगातार दो दिनों तक शहर से लेकर गांव तक जाकर यह कार्रवाई की थी.