Monday , 14 June 2021

बैलजोड़ी की खुराक 16-16 लीटर दूध, 42 बादाम

होशंगाबाद . खिडिय़ा गांव के रेवाराम मीना के बैल रूद्रा और शैतान की जोड़ी ने 405 फीट की दूरी 8.77 सेकेंड में तय कर बाबई में बैलगाड़ी दौड़ प्रतियोगिता जीत ली. रूद्रा और शैतान की जोड़ी इससे पहले भी विजेता रह चुकी है. रूद्रा और शैतान रोज सुबह शाम 16-16 लीटर दूध पीते हैं वहीं हर दिन 42 बादाम, 100 ग्राम सफेद मूसली, 2-2 किलो उड़द, सोयाबीन, चना, मूंग, मक्का, गेहूं का मिक्स दलिया खाते हैं.

रेवाराम मीना खुराक के साथ रूद्रा और शैतान की फिटनेस का भी पूरा ख्याल रखते हैं. रोज इन्हें नहलाते हैं. महीने में दो बार तैराते हैं. दौड़ में भाग लेने वाले बैल को एक दिन पहले भोजन बंदकर केवल दूध और बदाम देते हैं. लौटने के बाद थकान मिटाने के लिए गुड़ दिया जाता है.

रेवाराम के भाई जीवन मीना ने बताया बैलों की अच्छी नस्ल महाराष्ट्र (Maharashtra) के औरंगाबाद (Aurangabad) में मिलती है. 2 से 5 लाख तक के बैल मिलते हैं. प्रतियोगिता गाड़ी 20 हजार रुपए आती है, चालक को एक प्रतियोगिता में चलाने के हजार से 1500 आने जाने के लिए बाइक और दूध देने वाली एक गाय दी गई है.

Please share this news