Friday , 14 May 2021

दिग्विजय भगवान राम के नाम पर कर रहे ओछी राजनीति

भोपाल (Bhopal) . प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री (Chief Minister) दिग्विजय सिंह पर ओछी राजनी‎ति करने के आरोप लगाते हुए विश्व हिंदू परिषद के केंद्रीय संयुक्त महामंत्री सुरेंद्र जैन ने कहा है ‎कि कांग्रेस के नेताओं ने एक बार फिर से यह सिद्ध कर दिया है कि वो देश की जनता को भी धोखा देते हैं और भगवान राम के नाम पर भी छल-कपट और धोखाधड़ी करते हैं.

कांग्रेस के नेता दिग्विजय सिंह ने राम मंदिर (Ram Temple) निर्माण के लिए एक चेक भेजा तो सही पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Prime Minister Narendra Modi) के पास. इसका मतलब बड़ा स्पष्ट है कि उनका इरादा राम मंदिर (Ram Temple) के निर्माण में सहयोग करना नहीं था. वो इस अवसर का अपनी ओछी राजनीति के लिए प्रयोग करना चाहते हैं और कुछ नहीं. कौन नहीं जानता कि राम मंदिर (Ram Temple) तीर्थ क्षेत्र न्यास सुप्रीम कोर्ट (Supreme court) के आदेश पर ही उस मंदिर का निर्माण कर रहा है. आप सुप्रीम कोर्ट (Supreme court) की भी अवमानना कर रहे हैं. सुरेंद्र जैन ने कहा कि कौन नहीं जानता कि न्यास का खाता नंबर क्या है. खाते में चेक जमा कराने के प्रधानमंत्री के पास भेजते हैं और ऊपर से कहते हैं कि विश्व हिंदू परिषद हिसाब दे. कौन से समय का हिसाब मांग रहे हैं. उन्हें ध्यान रखना चाहिए कि 1989 में शि‍लापूजन का कार्यक्रम हुआ था. तब से लेकर अब तक चार बार कांग्रेस और दो बार कांग्रेस समर्थित सरकार रही है. उन्होंने जांच कराई थी पर क्या पाया, यह उन्हें स्पष्ट करके जनता को बताना चाहिए.

जैन ने कहा विश्व हिंदू परिषद के पैसों के हिसाब में यदि कोई गड़बड़ थी तो छह बार की सरकार में भी क्यों नहीं हमको कटघरे में खड़ा कर सके. हमारे खाता का पहले भी हर साल ऑडिट होता था और आयकर विवरण दाखिल किया जाता था. दो बार जरूर इन लोगों के कहने पर गहरी जांच हुई पर कुछ नहीं पाया गया. सब कुछ एकदम साफ था. घोटालेबाजी करना, जनता के पैसों से हेराफेरी करना और अपने घर भरना कांग्रेस के नेताओं के स्वभाव में है, रामभक्तों के स्वभाव में यह सब नहीं है.

Please share this news