Friday , 25 September 2020

धर्मेंद्र प्रधान ने ओडिशा से श्रमिक विशेष ट्रेन फिर शुरू करने के लिए रेलमंत्री गोयल से किया अनुरोध


नई दिल्ली (New Delhi) . केंद्रीय मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने रेल मंत्री पीयूष गोयल को पत्र लिखकर ओडिशा से श्रमिक विशेष ट्रेनों को फिर से शुरू करने का अनुरोध किया है, ताकि प्रवासी कामगर गुजरात, कर्नाटक (Karnataka) और महाराष्ट्र (Maharashtra) जैसे राज्यों में अपने कार्यस्थलों पर लौट सकें. लॉकडाउन (Lockdown) की वजह से हजारों प्रवासी मजदूर पैदल ही अपने मूल स्थानों की ओर जा रहे थे, जिसके बाद रेलवे (Railway)ने एक मई को श्रमिक विशेष ट्रेनों को चलाना शुरू किया था. रेलवे (Railway)ने नौ जुलाई को आखिरी श्रमिक ट्रेन चलाई थी.

रेल मंत्री पीयूष गोयल को लिखे पत्र में प्रधान ने कहा कि उन्हें ओडिशा के प्रवासी कामगारों से ट्रेन सेवा शुरू करने को लेकर बड़ी संख्या में अनुरोध मिले हैं, ताकि वे ओडिशा से अपने कार्यस्थल पहुंच सकें. प्रधान ने कहा कि राष्ट्रव्यापी लॉकडाउन (Lockdown) हटाकर हम सामान्य हालात की ओर बढ़ रहे हैं. लिहाजा प्रवासी मजदूरों के लिए रेल सेवा फिर से शुरू करने की जरूरत है ताकि वे अपने कार्यस्थल को लौट सकें. इन कामगारों ने जीविका की अनुपलब्धता के विकल्प के कारण और कार्यस्थल पर लौटने के लिए यात्रा पर आने वाली मुश्किलों को लेकर अपनी परेशानी बताई है.

प्रधान ने पत्र में कहा, मुझे बताया गया है कि कुछ नियोक्ता ओडिशा से बस सेवा देने की इच्छा रखते हैं लेकिन मानसून के कारण सड़क मार्ग से लंबी और कठिन यात्रा करना न संभव है और न ही सुरक्षित है. उन्होंने कहा मैं ओडिशा से गुजरात, कर्नाटक (Karnataka) और महाराष्ट्र (Maharashtra) जैसे राज्यों में श्रमिक एक्सप्रेस ट्रेनों को जल्द से जल्द शुरू करने के लिए आपके हस्तक्षेप का अनुरोध करता हूं, रेलवे (Railway)ने पिछले गुरुवार (Thursday) को कहा था कि उसने श्रमिक विशेष ट्रेनों को लेकर राज्यों की सभी मौजूदा मांगों को पूरा किया है.
रेलवे (Railway)के सूत्रों ने बताया कि रेलवे (Railway)फिलहाल और श्रमिक विशेष ट्रेनें चलाने के लिए तैयार नहीं है, लेकिन ओडिशा से मांग आने पर और नियमित ट्रेनें चलाएगा. किसी भी अन्य राज्य ने यह ट्रेनें चलाने की मांग नहीं की है. रेलवे (Railway)ने हाल में कहा था कि 12 सितंबर से अतिरिक्त 80 विशेष ट्रेनें चलेंगी जो फिलहाल चलाई जा रही 230 ट्रेनों के अलावा होंगी.