Tuesday , 13 April 2021

आग से लेकर बारिश तक जलवायु परिवर्तन की विनाशकारी घटनाओं

नई दिल्ली (New Delhi) . गुजरता वर्ष कोरोना महामारी (Epidemic) के अलावा जलवायु परिवर्तन की दस विनाशकारी घटनाओं के लिए भी याद रखा जाएगा. ये ऐसी घटनाएं हैं जिनमें से प्रत्येक में डेढ़ अरब डालर या इससे भी ज्यादा की आर्थिक क्षति हुई है. क्रिश्यियन एड की ताजा रिपोर्ट ‘लागत 2020 की गणना’ में इन घटनाओं से हुई आर्थिक क्षति का आकलन किया गया है. इन कुल दस घटनाओं में से नौ ऐसी थी जिनमें आर्थिक क्षति पांच अरब डालर से भी अधिक की थी. क्षति का आकलन मोट तौर पर बीमित क्षतिपूर्ति के आधार पर किया गया है. यानी वास्तविक क्षति इससे भी ज्यादा की हो सकती है. इन घटनाओं में बाढ़, तूफान, उष्णकटिबंधी चक्रवात तथा आग की घटनाएं प्रमुख रूप से शामिल हैं. सर्वाधिक प्रभावित देशों में अमेरिका पहले नंबर पर रहा.

दुनिया में मौसम के इस बड़े बदलाव का असर महसूस किया गया. यूरोप में दो अतिरिक्त उष्णकटिबंधीय चक्रवातों की संयुक्त लागत लगभग 6 बिलियन डॉलर (Dollar) थी. अमेरिका को ब़डे पैमाने पर आए तूफानों एवं आग की घटनाओं से 60 अरब डालर की क्षति होने का अनुमान है. कुछ कम आबादी वाले स्थानों को भी ग्लोबल वार्मिंग का परिणाम भुगतना पड़ा. साइबेरिया में साल की पहली छमाही के दौरान गर्मी की लहर ने वरखोयानस्क शहर में 38 डिग्री सेल्सियस तापमान के साथ एक रिकॉर्ड स्थापित किया. कुछ महीने बाद दुनिया के दूसरे छोर पर बोलीविया, अर्जेंटीना, पैराग्वे और ब्राजील में गर्मी और सूखे ने आग की घटनाएं बढ़ीं. रिपोर्ट में कहा गया है कि मौसम की ये मुख्य घटनाएं तत्काल जलवायु कार्रवाई की आवश्यकता को उजागर करती हैं.

Please share this news