Thursday , 24 June 2021

कोरोना वैक्सीनेशन के नाम पर सायबर धोखाधड़ी

जबलपुर, 19 मार्च . प्रदेश में कोरोना से बचाव के लिये टीकाकरण ने रफ्तार पकड़ना शुरू कर दिया है इसके साथ ही कोरोना टीकारण के नाम पर सायबर धोखाधड़ी का काम शुरू हो गया है. रीवा के रेलवे (Railway)पुलिस (Police) कर्मी के साथ हुई कोरोना टीकाकरण के नाम पर सायबर धोखाधड़ी के बाद प्रदेश के सायबर सेल ने एसपी और अन्य पुलिस (Police) अधिकारियों को इस तरह की घटनाओं से सावधान किया है.

गौरतलब है कि रीवा में पुलिस (Police)कर्मी को कोरोना के टीका का दूसरा डोज लगाने के लिए पंजीयन कराने के नाम पर धोखाधड़ी का मामला सामने आया है. अज्ञात मोबाइल नंबर से फर्जी लिंक भेजकर, फोन लगाकर पंजीयन की प्रक्रिया करने के लिए कहा. जैसे ही ही लिंक को किल्क किया पुलिस (Police)कर्मी के खाते से बड़ी राशि निकल गई. इसे देखते हुए पुलिस (Police) मुख्यालय ने सभी पुलिस (Police) अधीक्षकों को सतर्कता बरतने के निर्देश दिए हैं. पुलिस (Police) मुख्यालय की विशेष शाखा द्वारा जारी निर्देश में कहा गया कि इस तरह की किसी भी लिंक या कॉल प्राप्त होने पर व्यक्तिगत जानकारी किसी को भी न दें. इसको लेकर अधीनस्थ अधिकारियों और कर्मचारियों को सतर्कता बरतने के लिए जागरुक किया जाए. यदि ऐसी कोई जानकारी सामने आती है तो विधिवत सूचना भी दी जाए.

बताया जा रहा है कि पुलिस (Police)कर्मी को कोरोना टीके के दूसरे डोज के लिए लिंक भेजी गई, इस पर किल्क कर उन्होंने अपनी सारी जानकारी दर्ज कर सबमिट कर दिया. इसके बाद उनके खाते से पैसे कटने का संदेश आया. इसके बाद पता लगा कि किसी ने उनके साथ कोरोना टीकाकरण के नाम पर धोखाधड़ी है. इस घटना के बाद पुलिस (Police) महकमा सतर्क हो गया है और ऐसी ठगी से बचने के लिए सभी पुलिस (Police)कर्मियों ऐसी किसी भी लिंक से सावधान रहने को कहा गया है.

Please share this news