Friday , 25 June 2021

कोरोना से बेपरवाह बाजारों में बढ रही भीड

भोपाल (Bhopal) . जानलेवा कोरोना महामारी (Epidemic) से बचाव के ‎लिए घर से बाहर निकल रहे हैं तो मुंह पर मास्क जरूर लगाएं. बाजार या अन्य भीड़ वाले इलाकों में जाएं तो एक-दूसरे से पर्याप्त शारीरिक दूरी रखें. हाथों को बार-बार धोएं या सैनिटाइज करें. यह निर्देश बार-बार दिए जा रहे हैं, लेकिन कोरोना संक्रमण बढ़ने के बावजूद लोग लापरवाही बरतने से बाज नहीं आ रहे. वर्तमान में बाजारों से लेकर यात्रा करने तक में लापरवाही बरती जा रही है.

बाजारों में होली की ग्राहकी है. राजधानी के थोक बाजारों से प्रतिदिन बड़ी मात्रा में किराना, कपड़ा समेत अन्य सामग्री आसपास के जिलों में पहुंचाई जा रही है. इसके अलावा लोगों में लगातार लॉकडाउन (Lockdown) होने का डर भी है. इसलिए वे जरूरत का सामान खरीद रहे हैं. अप्रैल में शादी-ब्याह का दौर भी शुरू होगा. लिहाजा, लोग इसकी खरीदारी भी कर रहे हैं.

लखेरापुरा, चौक, सराफा, मारवाड़ी गली, कोतवाली रोड, जनकपुरी, जुमेराती, हनुमानगंज, इब्राहिमपुरा, घोड़ा नक्कास, पीर गेट, हमीदिया रोड, करोंद समेत पुराने शहर के कई ऐसे क्षेत्र हैं, जहां दिनभर भीड़ लगी रहती है. भीड़ भी ऐसी कि पैर रखने की जगह तक न मिले. न्यू मार्केट, एमपी नगर, कोलार, अवधपुरी, होशंगाबाद रोड, इंद्रपुरी, आनंद नगर, 10 नंबर मार्केट, बिट्टन मार्केट आदि बाजारों में भी ऐसे ही हालात है.

इधर, निगम अधिकारियों ने भी कलेक्टर (Collector) अविनाश लवानिया के आदेश को हवा कर दिया है. 19 मार्च को कलेक्टर (Collector) ने आईएसबीटी में निगम अधिकारी व जोन अधिकारियों की बैठक लेकर निर्देश दिए थे कि प्रत्येक जोन में प्रतिदिन 200 चालान ऐसे लोगों के बनाए जाए, जो मुंह पर मास्क न लगाते हों या फिर शारीरिक दूरी के नियम का पालन नहीं करते हो. ऐसे में 19 जोन क्षेत्रों में प्रतिदिन 3800 चालान बनाने थे. कलेक्टर (Collector) के आदेश के बाद अनान-फानन जुर्माना तो वसूला जाने लगा, लेकिन उतनी सख्ती नहीं हुई, जो मौजूदा परिस्थितियों को देखते हुए करनी चाहिए. हैरत की बात तो ये है कि जुर्माने की कार्रवाई का प्रतिदिन का आंकड़ा सैकड़ा तक भी नहीं पहुंच पा रहा है. 24 व 25 मार्च को क्रमश: 62 व 77 लोगों पर ही निगम ने कार्रवाई की.

Please share this news