Monday , 19 April 2021

गुरुग्राम में कोरोना के नए स्ट्रेन की दस्तक

गुरुग्राम (Gurugram) . कोरोना के नए वायरस से एक ओर जहां ब्रिटेन में हाहाकार मचा है, वहीं अब मिलेनियम सिटी में भी इसने दस्तक दे दी है. जिले के रहने वाले 22 वर्षीय युवक में कोरोना का नया वायरस मिला है. जिला स्वास्थ्य विभाग की ओर से युवक के नमूने की होल जीनोम अनुक्रमण होल जिनोम सीक्वेंसिंग रिपोर्ट पॉजिटिव आने के बाद सोमवार (Monday) को इसकी पुष्टि की गई है. युवक 19 दिसंबर को यूके से वापस लौटा था. उसकी आरटीपीसीआर जांच रिपोर्ट पॉजिटिव आने के बाद ही विभाग ने उसे आइसोलेट कर दिया था. स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों का दावा है कि कोरोना के नए वायरस के साथ यह पहला मरीज मिला है. इससे पहले विदेश से लौटे सभी लोग आरटीपीसीआर जांच में निगेटिव पाए गए हैं.

सिविल सर्जन डॉ. वीरेंद्र यादव ने बताया कि युवक के जिले में लौटने पर आरटीपीसीआर जांच करवाई गई थी. इसकी रिपोर्ट पॉजिटिव आने पर युवक का नमूना लेकर होम जिनोम सिक्वेंसिंग जांच के लिए दिल्ली स्थित आईजीआईबी (इंस्टीट्यूट ऑफ जीनोमिक्स एंड इंटीग्रेटिव बायोलॉजी) भेजा गया था. वहां से सोमवार (Monday) को युवक की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है. जिसमें यह पुष्टि हो पाई है कि युवक में कोरोना का नया वायरस मिला है. उन्होंने बताया कि विभाग की निगरानी में युवक को 14 दिन के लिए आइसोलेट किया गया है. 14 दिन बाद उसके दोबारा नमूने लेकर जांच के लिए भेजे जाएंगे. अगले दो नमूनों की रिपोर्ट निगेटिव आने के बाद उसे छुट्टी दी जाएगी. उसके बाद भी युवक को कुछ दिन होम क्वारंटाइन रहना होगा. युवक के परिवार के तीन अन्य सदस्यों के भी नमूने लेकर विभाग ने जांच करवाई थी.

अधिकारियों के अनुसार उनकी जांच रिपोर्ट निगेटिव आई थी. प्रदेश सरकार की ओर से जिला स्वास्थ्य विभाग को जिले में रहने वाले 740 यात्रियों (Passengers) की सूची दी गई थी, जो आई दिसंबर के बाद यूके से लौटे थे. इनमें से 721 यात्रियों (Passengers) को विभाग ने ट्रेस कर लिया था. जिनमें से 381 यात्रियों (Passengers) के नमूने लेकर विभाग ने उनकी आरटीपीसीआर जांच करवाई थी. इनमें से 380 की जांच रिपोर्ट निगेटिव आ गई थी, जबकि 22 वर्षीय युवक की रिपोर्ट पॉजिटिव आई थी. यूके से लौटे यात्रियों (Passengers) में से 176 यात्री दूसरे देश, राज्य या जिले में चले गए थे. जबकि 19 यात्रियों (Passengers) का पता और मोबाइल नंबर गलत होने की वजह से विभाग उन तक नहीं पहुंच पाया है. इन सभी 19 लोगों की सूची विभाग ने पुलिस (Police) आयुक्त को सौंप दी है. अब पुलिस (Police) के जरिए इन्हें ट्रेस करने का प्रयास किया जा रहा है..

Please share this news