Wednesday , 16 June 2021

दिल्ली के अन्दर कोरोना संक्रमण का दर अन्य राज्यों की तुलना में सबसे कम: मंत्री सत्येन्द्र जैन

नई दिल्ली (New Delhi) . दिल्ली के स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्री, सत्येन्द्र जैन ने कहा कि दिल्ली के अन्दर बढ़ रहे कोरोना के नए मरीजों की संख्या अन्य राज्यों की तुलना में काफी कम है. उन्होंने कहा कि दिल्ली के अन्दर कोरोना संक्रमण का दर 0.66% है जो देश की कई राज्यों जैसे महाराष्ट्र, गुजरात (Gujarat), केरल (Kerala)ा, मध्य प्रदेश, हरियाणा (Haryana) और पंजाब (Punjab) की तुलना में कम है.

सत्येन्द्र जैन ने आगे कहा कि लोगों को ज्यादा से ज्यादा मास्क का प्रयोग करना चाहिए और सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करना चाहिए क्योंकि कोरोना ऐसी बीमारी है जो एक बार में नहीं जाती है. इसलिए सभी को सावधान और सचेत रहने की जरुरत है. बढ़ते संक्रमण के समस्या से निपटने के लिए दिल्ली सरकार प्रतिदिन लगातार 80 हजार से भी ज्यादा टेस्टिंग कर रही है जो पूरे देश की तुलना में 5% ज्यादा हैंI दिल्ली के स्वास्थय मंत्री सत्येन्द्र जैन ने बताया की कल पूरे दिल्ली के अंदर 536 कोरोनावायरस के मामले मिले जिसमें संक्रमण का दर 0.66% था I बढ़ते संक्रमण के समस्या से निपटने के लिए दिल्ली सरकार प्रतिदिन लगातार 80 हजार से भी ज्यादा टेस्टिंग कर रही है I

मंत्री सत्येंद्र जैन ने कहा कि ‘ दिल्ली के अन्दर कोरोना संक्रमण की सकारात्मकता दर 0.6-0.8% है, वहीँ पिछले दो महीने में संक्रमण की तो यह दर 1% से भी कम है. पिछले 5 महीनों से, यह 5% से भी कम है. आज, दिल्ली की सकारात्मकता दर केवल 0.6% है, जबकि महाराष्ट्र (Maharashtra) की सकारात्मकता दर 19.32%, एमपी में 4.89%, पंजाब (Punjab) में 4.96% है. वहीँ केरल (Kerala) में संक्रमण की सकारात्मकता दर 3.49% देखी गई, गुजरात (Gujarat) में 1.92% और हरियाणा (Haryana) में 2.88% की दर देखी गई. इन सभी राज्यों के मुकाबले दिल्ली की सकारात्मकता दर सबसे कम है. वही दिल्ली के अन्दर यह संक्रमण दर पिछले 2 – 3 महीने में लगातार 1% से नीचे ही रहा है.

देश के अलग – अलग राज्यों में बढ़ रहे कोरोना संक्रमण के मामले का उदहारण देते हुए सत्येन्द्र जैन ने कहा दिल्ली में यह संक्रमण दर बहुत कम है और सरकार इस पर पूरी निगरानी बनाए रखी है I दिल्ली सरकार हर समस्या के निपटने के लिए पूरे इंतजाम कर लिए हैं और साथ ही हर समस्या से निपटने के लिए सरकार पूरी तरीके से तैयार भी है I सत्येन्द्र जैन ने आगे कहा की ‘1% से नीचे के संक्रमण दर में लोगों को किसी प्रकार की चिंता करने की कोई आवशकता नहीं है. सरकार इस मामले में पूरी तरह से इस पर नजर बनाए रखी है. कोरोना महामारी (Epidemic) से संक्रमित मरीजों का पता लगाने के लिए दिल्ली सरकार प्रतिदिन लगातार 80 हजार से भी ज्यादा टेस्टिंग कर रही है. जो पूरे देश के अन्दर होने वाली कुल टेस्टिंग संख्या से काफी ज्यादा है I ज्यादा टेस्टिंग की वजह से ही ज्यादा संक्रमण के मामले मिल रहे है I

सत्येन्द्र जैन ने कहा की दिल्ली में दुसरे राज्यों से आने वाले लोगों के अन्दर भी संक्रमण पायी जा रही है ी सत्येन्द्र जैन ने आगे कहा की ‘ दशहरा, दिवाली में संक्रमण की पहली लहर आई थी I इस बातों का लोगों को ध्यान रखना चाहिए क्युकी त्योहारों में लोग संक्रमण को रोकने वाले बातों का ध्यान नहीं रखते I साथ ही सत्येन्द्र जैन ने लोगों से संक्रमण को रोकने वाले निर्देशों का पालन करने का अपील किया और साथ ही नियमों का पालन न करने वाले लोगों पर सख्ती से कारवाई करने का भी संकते दिए I सत्येन्द्र जैन ने आगे केंद्र सरकार (Central Government)द्वारा लायी गयी असंवैधानिक बिल पर कहा ‘यह बहुत ही आश्चर्यजनक और दुर्भाग्यपूर्ण बात है कि जिस जिस देश के अंदर पूरा पूरा लोकतंत्र संविधान के ऊपर चलता है संविधान को पलटने के लिए केंद्र सरकार (Central Government)नए कानून लेकर आई है. संविधान में 239A के तहत लिखा हुआ है कि दिल्ली में एक विधानसभा होगा और उसकी सरकार बनेगी जो संविधान के प्रति उत्तरदायित्व होगी. भाजपा सरकार इस कानून को असंवैधानिक रूप से बदलना चाहती है. दिल्ली के अंदर एलजी को सरकार बनाना चाहती है. भाजपा सरकार इन सभी तरह के हथकंडे को केजरीवाल सरकार द्वारा किए जा रहे कामों को रोकने के लिए अपना रही है.

हाई कोर्ट के फैसले के बाद दिल्ली सरकार द्वारा किए जा रहे सभी कार्यों का फाइल एलजी के पास जाने लगा जिसके बात एलजी ने मोहल्ला क्लीनिक के फाइल को डेढ़ साल तक एलजी हाउस के चक्कर काटने पड़े. इसी तरह सीसीटीवी कैमरा स्ट्रीट लाइट और अन्य फाइलों को बिना किसी वजह के रोका गया. जिसके लिए मुख्यमंत्री (Chief Minister) जी उप मुख्यमंत्री (Chief Minister) जी गोपाल राय जी और मैं एलजी हाउस में धरना दिया था. जिसके बाद फाइल पास करवाने के लिए मैंने और मनीष जी ने 11 दिन का अनशन भी किया था. भाजपा सरकार चाहे जो हथकंडे अपना ले लेकिन दिल्ली सरकार द्वारा किए जा रहे हैं तरक्की नहीं रुकेगी.

Please share this news