Wednesday , 23 June 2021

सेक्स स्कैंडल पर हंगामा, बोले येदियुरप्पा, सदन का समय बर्बाद कर रही है कांग्रेस

विपक्ष ने कहा, विशेष जांच टीम की निगरानी कर्नाटक (Karnataka) उच्च न्यायालय के मुख्य न्यायाधीश (judge) को करनी चा‎हिए

बेंगलुरु (Bangalore) . भाजपा विधायक एवं पूर्व मंत्री रमेश जरकीहोली की कथित संलिप्तता वाले सेक्स स्कैंडल को लेकर कर्नाटक (Karnataka) विधानसभा में एक बार फिर हंगामा हुआ. विपक्षी कांग्रेस ने उच्च न्यायालय के मुख्य न्यायाधीश (judge) की निगरानी में जांच की मांग को लेकर विधानसभा अध्यक्ष के आसन के समक्ष आकर विरोध प्रदर्शन किया. कार्यवाही बार-बार स्थगित हुई क्योंकि कांग्रेस के सदस्यों ने नारेबाजी करते हुए कामकाज नहीं होने दिया.

वहीं सरकार विपक्ष की मांग नहीं मानने पर कायम रही. अध्यक्ष विश्वेश्वर हेगड़े कागेरी ने सदन के नेताओं की एक बैठक बुलायी ताकि सदन में कामकाज के लिए स्थिति सामान्य बनाई जा सके लेकिन इसका कोई लाभ नहीं हुआ. हालांकि, कांग्रेस के रुख में तब थोड़ा बदलाव आया जब विपक्ष के नेता सिद्धारमैया ने कहा कि मामले की जांच करने वाली विशेष जांच टीम की निगरानी कर्नाटक (Karnataka) उच्च न्यायालय के मुख्य न्यायाधीश (judge) द्वारा की जानी चाहिए.

विधानसभा के बाहर पत्रकारों से बात करते हुए मुख्यमंत्री (Chief Minister) बीएस येदियुरप्पा ने कांग्रेस पर आरोप लगाया कि वह सदन का समय बर्बाद कर रही है क्योंकि उसके पास कोई मुद्दा नहीं है. बजट सत्र के दौरान, हमारे कांग्रेस के मित्र बेतुके बहाने देकर विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं. रमेश जरकीहोली ने नैतिक जिम्मेदारी लेते हुए पहले ही इस्तीफा दे दिया है और जांच जारी है. महिला (वीडियो में दिखी) अपना बयान देने के लिए आगे नहीं आ रही है. हम उसे ढूंढने की कोशिश कर रहे हैं और क्या करना है? आप (कांग्रेस) विरोध प्रदर्शन क्यों कर रहे हैं? मैं समझ नहीं पा रहा हूं.

गोकक से भाजपा विधायक जरकीहोली ने गत तीन मार्च को मंत्री पद से तब इस्तीफा दे दिया था जब एक सामाजिक कार्यकर्ता ने पुलिस (Police) में शिकायत दर्ज कराकर रोजगार इच्छुक के यौन उत्पीड़न का आरोप लगाया गया था और कथित तौर पर अंतरंग पलों को दिखाने वाली एक वीडियो क्लिप सामने आई थी.सदन नहीं चलने देकर अन्य सदस्यों के अधिकारों का उल्लंघन किया जा रहा है. ऐसा नहीं होना चाहिए. अध्यक्ष की बार-बार की गई अपील व्यर्थ गई, इस पर कांग्रेस ने कुछ समय के लिए सदन की कार्यवाही स्थगित कर दी और सदन के नेताओं को बैठक के लिए बुलाया. सदन की कार्यवाही फिर से शुरू होने पर कांग्रेस सदस्यों ने सरकार के खिलाफ नारेबाजी जारी रखी.

Please share this news